अररिया : मिलिए कोरोना वॉरियर एएनएम पूजा से, जो स्वास्थ्यकर्मियों के लिए बनी हैं नजीर

भागलपुर स्थित घर पर सारे लोग संक्रमित हैं, पर पूजा अपनी जिम्मेवारियां निभा रही हैं अररिया के सदर अस्पताल में.

भागलपुर स्थित घर पर सारे लोग संक्रमित हैं, पर पूजा अपनी जिम्मेवारियां निभा रही हैं अररिया के सदर अस्पताल में.

एएनएम पूजा के घर के लोग भागलपुर में रहते हैं और वे सभी कोरोना संक्रमित हैं. पूजा की पोस्टिंग अररिया के सदर अस्पताल में है. वे इस विकट परिस्थिति में भी मरीजों के बीच अपनी जिम्मेवारियां पूरी कर रहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2021, 8:18 PM IST
  • Share this:
अररिया. वैश्विक महामारी कोरोना (Corona Epidemic) ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले रखा है. हर दिन लाखों लोग इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं. इस विकट परिस्थिति के बावजूद हमारे कोरोना वॉरियर्स (Corona Warrior) हर दिन अपनी जान हथेली पर रख इस वायरस को शिकस्त देने की मुहिम में जुटे हैं. ऐसी ही एक वॉरियर का नाम है पूजा जो फिलहाल अररिया के सदर अस्पताल (Sadar Hospital) के फ्लू कॉर्नर में कार्यरत है.

भागलपुर में घर, नौकरी अररिया में

एएनएम पूजा भागलपुर की रहने वाली हैं. मां सहित उनका पूरा परिवार बीते कई दिनों से कोरोना संक्रमित है. बजुर्ग मां की हालात चिंताजनक है. बावजूद अपने फर्ज व जिम्मेदारियों से बंधी पूजा अपने परिवार पर आए इस भीषण आपदा की इस घड़ी में भी अपनी सेवा के प्रति अररिया के सदर अस्पताल में तत्पर हैं.

फर्ज के आगे फीकी पड़ जाती है अपनों की फिक्र
एएनएम पूजा कहती हैं कि भागलपुर में उनके घर के सारे लोग संक्रमित हैं. बुजुर्ग मां की सेहत बेहद खराब है. परिवार के लोगों की सेहत की चिंता उन्हें दिन-रात परेशान करती है. लेकिन अपने फर्ज व जिम्मेदारियों से कोई कैसे अपना मुंह मोड़ सकता है. पूजा कहती हैं कि फर्ज के आगे फीकी पड़ जाती है अपनों की फिक्र. कोरोना काल में वे लगातार सदर अस्पताल के फ्लू कॉर्नर में अपनी सेवाएं दे रही हैं. यहां भी हर कदम पर संक्रमित होने का खतरा है. हर दिन सैकड़ों मरीज जांच कराने अस्पताल पहुंचते हैं. उनमें कई कोरोना संक्रमित भी होते हैं. रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर लोगों में काफी घबराहट होती है. ऐसी मुश्किल घड़ी में उनका हौसला बढ़ाना मैं अपना फर्ज समझती हूं. ऐसे मरीजों को जरूरी सलाह देती हूं. उन्हें मास्क लगाने, घर के अन्य लोगों से दूरी बनाए रखने व नियमित रूप से हाथों की सफाई करने के लिए प्रेरित करती हूं. इस दौरान उनके जल्द स्वस्थ होने का भरोसा दिलाती हूं.

सहकर्मियों से मिलता है प्रोत्साहन

पूजा बताती हैं कामकाज के दौरान कई बार उन्हें निराश देखकर वरीष्ठ स्वास्थ्यकर्मी व उनके सहकर्मी उनका हौसला बढ़ाते हैं. सबकुछ जल्द ठीक होने का यकीन दिलाते हैं. इससे मुझे अपने काम के प्रति नया उत्साह व प्रोत्साहन मिलता है. वे कहती हैं कि उनका साथ व सहयोग पाकर हर मुश्किल चुनौती को करारी शिकस्त देने का उन्हें हौसला मिलता है.



स्वास्थ्यकर्मियों के लिए नजीर हैं पूजा

सदर अस्पताल प्रबंधक विकास आनंद ने कहा कि हमसब पूजा की परेशानियों से वाकिफ हैं. जरूरी सहयोग के साथ हमसब लगातार उन्हें प्रोत्साहित करने का काम करते हैं. वास्तव में देखा जाए तो पूजा हमारी तरह के कई अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के लिए नजीर हैं.

पूजा के पति को है उन पर गर्व

पूजा के पति भवेश कुमार ने कहा कि पूजा लगातार मानसिक दबाव व खतरों के बीच अपनी जिम्मेदारी का सफल निवर्हन कर रही हैं. इसका उन्हें गर्व है. वे लगातार उनका हौसला बढ़ाते हैं. उन्होंने कहा कि तमाम तरह के तनाव व परेशानी के बावजूद पूजा अपने घर की जिम्मेदारी का भी सफल निवर्हन कर रही हैं. ऐसे में अगर देखा जाय तो मेरी नजर में पूजा किसी रियल हीरो से कम नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज