• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बाढ़ पीड़ितों का दर्द: साहब! सरकारी हलवा तो हमारी बकरी भी नहीं खाती

बाढ़ पीड़ितों का दर्द: साहब! सरकारी हलवा तो हमारी बकरी भी नहीं खाती

अररिया में बाढ़ पीड़ितों ने सरकारी खाने की गुणवत्ता पर उठाए सवाल

अररिया में बाढ़ पीड़ितों ने सरकारी खाने की गुणवत्ता पर उठाए सवाल

बुजुर्ग बाढ़ पीड़ित ने अपनी थाली में मिला सरकारी हलवा दिखाकर कहा कि साहब इसे तो मेरी बकरी ने भी नहीं खाया, छोड़ दिया, हम या हमारे बच्चे कैसे खायेंगे ?

  • Share this:
    बिहार के 12 जिलों में बाढ़ का कहर है. कई इलाकों में पानी तो उतर रहा है, लेकिन मुश्किलें भी बढ़ रही हैं. सबसे अधिक दिक्कत बाढ़ पीड़ितों को मिल रहे सरकारी खाने की गुणवत्ता को लेकर सामने आ रही है. आलम ये है कि इंसानों को दिया जा रहा सरकारी खाना जानवर भी खाने से इनकार कर दे रहे हैं. इसी का दर्द बयां करते हुए एक बाढ़ पीड़ित ने कहा कि इस खाने को तो मेरी बकरी ने भी नहीं खाया, हमारे बच्चे कैसे खाएंगे?

    न्यूज 18 की पड़ताल में सामने आया सच
    बुजुर्ग की बातों की पड़ताल जब न्यूज 18 की टीम ने की अररिया शहरी क्षेत्र के वार्ड नम्बर 11 के मो. कलाम की शिकायत जायज थी. उन्होंने प्लास्टिक की थाली में दिए गए सरकारी हलवा को दिखाया जो बेहद खराब था. बुजुर्ग बाढ़ पीड़ित ने अपनी थाली में मिला सरकारी हलवा दिखाकर कहा कि साहब इसे तो मेरी बकरी ने भी नहीं खाया, छोड़ दिया, हम या हमारे बच्चे कैसे खायेंगे ?

    अररिया में बाढ़ पीड़ितों ने न्यूज 18 को अपना दर्द सुनाया


    शिकायत केंद्रों की जानकारी नहीं
    बता दें कि अररिया जिले में अकेले 193 स्कूल, काॉलेज और आंगनबाड़ी केंद्रों में कम्युनिटी किचेन चल रहे हैं, लेकिन खाने की गुणवत्ता इतनी खराब है कि लोग इसे खा ही नहीं रहे. वहीं आलम ये है कि वे इसकी शिकायत भी कहां करेंगे, इसकी भी जानकारी नहीं है.

    बाढ़ राहत के नाम पर खानापूर्ति
    जाहिर है यहां बाढ़ पीड़ितों को राहत मुहैया करवाने के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है और कागजी काम ज्यादा हो रहे हैं.  इस बाबत अधिकारी कहते हैं कि शिकायत मिलते ही उसे दूर करने की कोशिश होती है. हालांकि अधिकारियों के दावे से इतर बाढ़ पीड़ितों को मिल रहे खाने की हकीकत अलग है.

    रिपोर्ट- राजेन्द्र पाठक

    ये भी पढ़ें-

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज