होम /न्यूज /बिहार /भारत से नेपाल क्यों ले जाए जा रहे थे मानव कंकाल व खोपड़ियां? बॉर्डर पर 2 तस्कर गिरफ्तार

भारत से नेपाल क्यों ले जाए जा रहे थे मानव कंकाल व खोपड़ियां? बॉर्डर पर 2 तस्कर गिरफ्तार

अररिया के रास्ते नेपाल ले जाए जा रहे थे मानव कंकाल.

अररिया के रास्ते नेपाल ले जाए जा रहे थे मानव कंकाल.

Araria News: नेपाल आर्म्ड फोर्स के DIG कमल गिरी ने बताया कि नेपाल पुलिस द्वारा बरामद मानव कंकाल के अंग ही है. इसमें 28 ...अधिक पढ़ें

अररिया. बिहार के अररिया से नेपाल जा रही टैक्सी से नेपाल आर्म्ड फोर्स यानी APF ने 28 मानव कंकाल बरामद किए हैं. भारतीय सीमा क्षेत्र जोगबनी होते हुए नेपाल जा रही नेपाली टैक्सी से भारी संख्या में मानव कंकाल की बरामदगी से नेपाल और भारत की सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हो गई हैं. जब्त वाहन पर नेपाली नंबर लगा है लेकिन वह फर्जी नंबर बताया जा रहा है. जानकारी यह भी सामने आई है कि यह नेपाल की गाड़ी नहीं है.

नेपाल आर्म्ड फोर्स के DIG कमल गिरी ने बताया कि नेपाल पुलिस द्वारा बरामद नर कंकाल के अंग ही है. इसमें 28 स्कल हैं. जब्त वाहन नेपाल का नहीं है. वाहन नम्बर भी फर्जी है. चेचिस नंबर नेपाल में रजिस्टर्ड नहीं है. उन्होंने बताया कि देर रात फरार टैक्सी ड्राइवर और उसके सहयोगी को गिरफ्तार कर रानी थाना में पूछताछ जारी है.

स्थानीय लोगों के मुताबिक जोगबनी रेलवे स्टेशन पर नेपाल नंबर की टैक्सियां लगी रहती हैं. भारत के बड़े शहरों से नेपाल लौटने वाले यात्री इसपर सवार होकर नेपाल के शहरों के लिए जाते हैं. उसी क्रम में बुधवार को एक खाली टैक्सी नेपाल की तरफ जा रही थी. रानी इलाके में भन्सार के पास जब नेपाली पुलिस ने गाड़ी को चेक किया तो ड्राइवर भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर फरार हो गया. हालांकि नेपाली पुलिस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है.

इधर जोगबनी SSB कैम्प प्रभारी अमरेन्द्र कुमार ने बताया कि इसकी सूचना मिली है, लेकिन उन्होंने इस मामले से खुद को अनभिज्ञ बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया. बता दें कि 100 किमी की खुली सीमा बिहार के अररिया से लगती है, जहां SSB के जवान मुस्तैद रहते हैं. बावजूद लगातार सीमा पर तस्करी होती रहती है. यहां SSB 56 बटालियन तैनात है बावजूद इतनी बड़ी संख्या में नरकंकाल का मिलना नेपाल के साथ साथ भारत की सुरक्षा एजेंसी पर भी सवाल खड़े करती है.

Tags: Big crime, Bihar News, India-Nepal Border, Smuggling

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें