दोस्तों के साथ ससुराल पहुंचे दामाद को समझ लिया बच्चा चोर, जमकर की पिटाई
Arwal News in Hindi

दोस्तों के साथ ससुराल पहुंचे दामाद को समझ लिया बच्चा चोर, जमकर की पिटाई
अरवल में युवक की पिटाई करती भीड़

तीनों युवक एक मोटरसाइकिल से सवार होकर गांव में गए थे, जिसे ग्रामीणों ने जला डाला.

  • Share this:
बिहार में बच्चा चोरी की अफवाह में मॉब लिंचिंग की घटनाएं थमने के बजाय लगातार बढ़ रही हैं. ताजा मामला अरवल जिले का है जहां कुर्था थाना क्षेत्र के धमौल गांव में बच्चा चोर गिरोह का सदस्‍य समझ कर ग्रामीणों ने तीन लोगों को पकड़ लिया और उनकी बेरहमी से पिटाई कर डाली. पीड़ि‍तों में एक शख्‍स का धमौल में ससुराल भी है.

मछली मारने बैठे थे तीनों दोस्त

जानकारी के अनुसार, गया जिला के अलीपुर थाना क्षेत्र (टेकारी) के शादीपुर गांव निवासी रामाशीष पासवान के पुत्र धर्मेंद्र पासवान, चरित्र पासवान के पुत्र पप्पू पासवान एवं प्रमोद कुमार के पुत्र आकाश कुमार कुर्था थाना क्षेत्र के धमौल गांव में सुरेश पासवान के यहां गए हुए थे. मछली मारने के ख्याल से तीनों युवक वहां नदी के किनारे बैठे थे. इसी दौरान कुछ ग्रामीणों ने तीन अंजान युवक को देखकर उन्‍हें बच्चा चोर समझ लिया और पकड़ लिया.



अफवाह फैलते ही लोगों ने घेरा
ग्रामीणों ने बच्चा चोर की अफवाह फैलाई इसके बाद लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. मामले की जानकारी जिसे मिली वो तीनों युवकों पर लाठी-डंडे बरसने लगे. तीनों युवक एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर गांव में गए थे, जिसे ग्रामीणों ने जला डाला. घटना की जानाकारी स्थानीय थाना को भी मिली. पुलिस सूचना मिलते ही घटनास्थल पर पहुंची, जिसके बाद तीनों युवकों को ग्रामीणों से किसी तरह छुड़वा कर थाने ले लाया गया.

50 के खिलाफ केस

तीनों युवकों से पूछताछ के बाद पता चला कि धमौल गांव में धर्मेंद्र पासवान के यहां एक शख्स का ससुराल था. तीनों युवक अलीगंज थाना अंतर्गत शादीपुर गांव के निवासी हैं. पुलिस ने इस मामले में फौरन कार्रवाई करते हुए 50 से अधिक लोगों पर केस दर्ज किया है और आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है.

रिपोर्ट- अनिरूद्ध कुमार

ये भी पढ़ें- आत्मदाह करने पहुंचे थे 'नेता जी' पुलिस ने पकड़ा तो...

ये भी पढ़ें- घर में घुसे चोरों ने दंपति को किया अधमरा, भागने के दौरान एक चोर की मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading