लाइव टीवी

कुशवाहा को अभी भी 'सम्मानजक' समझौते की आस, बोले सीट शेयरिंग फाइनल नहीं

News18 Bihar
Updated: October 27, 2018, 6:13 AM IST

उपेंद्र कुशवाहा शरू से कहते आए हैं कि वो दो लोकसभा सीटों पर लड़ने को तैयार नहीं होंगे. इसिलए जब नीतीश कुमार और अमित शाह ने एलान किया कि जेडीयू-बीजेपी बराबर सीटों पर लड़ेगी उसके बाद भी कुशवाहा ने सम्मानजक समझौते की उम्मीद जताई है. कुशवाहा का कहना है कि बीजेपी-जेडीयू बराबर सीटों पर तो लड़ेगी लेकिन संख्या क्या होगी इसका पता नहीं है.

  • Share this:
बिहार में एनडीए घटक दलों के बीच लोकसभा चुनाव की 40 सीटों पर तालमेल को लेकर 20-20 फॉूर्मले से लेकर 50-50 फॉूर्मेल तक में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के लिए दो सीटों की ही गुंजाइश दिखाई दे रही है जिसे पार्टी के नेता उपेंद्र कुशवाहा सिरे से खारिज करते नजर आए हैं. इसीलिए जब नीतीश कुमार और अमित शाह ने दिल्ली में कहा कि बीजेपी और जेडीयू बराबर सीटों पर लड़ेगी उसके बाद भी उपेंद्र कुशवाहा को सम्मानजक समझौते की उम्मीद दिख रही है.

दिल्ली में शुक्रवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सीट शेयरिंग को लेकर ऐलान कर दिया. इसके थोड़ी ही देर बाद केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से अरवल स्थित गेस्ट हाउस में मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद कुशवाहा ने कहा कि एनडीए में सीट शेयरिंग पर अंतिम फैसला नहीं हुआ है.

बीजेपी और जेडीयू में सीटों की सहमति को लेकर आरएलएसपी नेता ने कहा कि 50:50 के फार्मूले का कोई अंत नहीं है. यह 5-5 सीट या 15-15 सीट या 25-25 सीट भी हो सकता है. जब तक कुछ तय नहीं होता है तब तक कुछ बोलना कैसे संभव है. उन्होंने इस बात से इंकार किया कि एनडीए की बैठकों में उनको इग्नोर किया जा रहा है. कुशवाहा ने कहा कि वह एनडीए में हैं. यह संयोग है कि तेजस्वी भी अरवल में ही थे.

हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि तेजस्वी के साथ उनकी क्या बात हुई है. वहीं, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर उपेंद्र कुशवाहा के साथ मुलाकात की तस्वीर शेयर की है.


बताते चलें कि शुक्रवार को नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह से मुलाकात की. अमित शाह ने इस मुलाकात के बाद बताया कि बिहार में जेडीयू और बीजेपी ने आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव मे बराबर सीटों पर लड़ने का फैसला किया है. सीटों को दो-तीन दिनों में ऐलान किया जाएगा, जबकि गठबंधन की बाकी सीटें लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) साझा करेंगे. शाह ने कहा कि तीन-चार दिन से बिहार के लोकसभा के लिए सभी साथियों से चर्चा चल रही थी. नीतीश कुमार के साथ विस्तार से चर्चा के बाद इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि जेडीयू और बीजेपी एक साथ मिलकर बराबर सीटों पर लड़ेगी. बाकी जितने भी सहयोगी दल है उन्हें भी सम्मान जनक सीटें मिलेंगी. दो-तीन दिनों में नंबर की घोषणा की जाएगी और इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा और रामविलास पासवान भी साथ होंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अरवल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2018, 8:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर