लाइव टीवी

पांच साल की उम्र में बिछड़ा था परिवार से, 20 साल बाद वापस लौटा

Sanjay | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: July 8, 2017, 1:21 PM IST

कहानी थोड़ी फिल्मी जरूर है लेकिन है बिलकुल सच. जी हां, पांच साल की उम्र में अपने परिवार वालों से बिछड़ चुके अनिल का मिलन बीस साल लंबे इंतजार के बाद पुन: हुआ है.

  • Share this:
कहानी थोड़ी फिल्मी जरूर है लेकिन है बिलकुल सच. जी हां, पांच साल की उम्र में अपने परिवार वालों से बिछड़ चुके अनिल का मिलन बीस साल लंबे इंतजार के बाद पुन: हुआ है. गया के गुरारू थाना क्षेत्र के दशरथ बिगहा निवासी नन्हकु साव का बेटा अनिल ट्रेन से भटककर अनुग्रह नारायण स्टेशन चला आया था.

रफीगंज के माड़ीपुर निवासी भुनेश्वर पासवान ने उसे न सिर्फ अपने साथ ले आया बल्कि बेटा मानकर उसका लालन पोषण भी किया. इस बीच भुनेश्वर ने उसकी शादी भी कर दी. उसका एक बेटा भी हुआ.

होनी तो कुछ और था. बीस साल बाद अनिल की मां मीना देवी को अपने खोये बेटे का सुराग मिला और वो माड़ीपुर गांव पहुंच गयी. बाद में यह मामला थाने के हस्तक्षेप से सुलझा लिया गया और बीस साल तक सुरज के नाम से जाना जाने वाला अनिल अपनी मां के साथ दशरथ बिगहा चला गया.

हालांकि उसके जाने का मलाल पालन पोषण करने वाली मां शकुंतला देवी और उसके पुरे परिवार को है. मगर साथ ही साथ इस बात की भी उन्हें खुशी है कि वह अपने परिवार के पास पहुंच गया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए औरंगाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 8, 2017, 1:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर