पोलैंड के नागरिक कोज़ा को मिला न्‍याय, औरंगाबाद कोर्ट ने 4 लोगों को सुनाई 10-10 साल की सजा
Aurangabad-Bihar News in Hindi

पोलैंड के नागरिक कोज़ा को मिला न्‍याय, औरंगाबाद कोर्ट ने 4 लोगों को सुनाई 10-10 साल की सजा
पोलैंड के नागरिक कोज़ा के साथ मारपीट तथा लूट मामले में औरंगाबाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने सुनाया फैसला.

इसी साल 17 मई को पौलेंड निवासी कोज़ा (Koza) के साथ हुई मारपीट और लूट के मामले में औरंगाबाद (Aurangabad) के जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिवगोपाल मिश्रा (Shivgopal Mishra) की अदालत ने अपना फैसला सुनाया है. कोर्ट ने चारों आरोपियों को दस-दस साल की सजा सुनाई है.

  • Share this:
औरंगाबाद. इसी साल 17 मई को देर रात विदेशी पर्यटक कोज़ा (Koza) के साथ हुई मारपीट तथा लूट के मामले में औरंगाबाद (Aurangabad) के जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिवगोपाल मिश्रा (Shivgopal Mishra) की अदालत ने चार आरोपियों (Four Accused) को दोषी पाते हुए उन्हें 10-10 साल की सज़ा सुनाई है. इसके अलावा अदालत ने आरोपियों पर 5-5 हजार का जुर्माना भी लगाया है. सहायक लोक अभियोजक नागेंद्र सिंह ने बताया कि धारा 395 के तहत सभी को दस-दस साल की सजा और 5-5 हजार का जुर्माना, तो धारा 307 के तहत दस-दस साल की सजा और 5-5 हजार का जुर्माना लगाया है. साथ ही उन्होंने बताया कि दोनों सजाएं साथ साथ चलेंगी.

भटकने के कारण कोज़ा के साथ हुआ था हादसा
गौरतलब है कि 17 मई की रात ट्रेन से वाराणसी से गया जा रहे पोलैंड के नागरिक कोजा कन्‍फ्यूज होकर अनुग्रह नारायण रोड रेलवे स्टेशन पर उतर गया था और फिर भटककर स्टेशन के विपरीत दिशा के गांव में पहुंच गया. इसके बाद गांव के कुछ लड़कों ने रात के लगभग 11 बजे विदेशी नागरिक को अकेला देख उसके साथ न सिर्फ जमकर मारपीट की बल्कि उसका कैमरा समेत अन्य कीमती सामान छीन भी लिया था. घटना को अंजाम देकर सभी युवक उसे यूं ही घायल अवस्था में छोड़ कर फरार हो गए थे. यह तो गनीमत थी कि पुलिस की पेट्रोलिंग गाड़ी कुछ ही देर बाद वहां से गुजरी और उसकी घायल अवस्था में सड़क किनारे पड़े व्‍यक्ति पर नजर पड़ी. जबकि पूछताछ में उसने खुद को पोलैंड का नागरिक बताया और कहा कि उसे गया जाना था. इसके बाद पुलिस ने उसका सदर अस्पताल में इलाज कराया गया. इसके बाद कोज़ा का की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई. जबकि औरंगाबाद जिला प्रशासन ने उसे पोलैंड रवाना कर दिया था.

बहरहाल, औरंगाबाद के जिला एवं सत्र न्यायाधीश शिवगोपाल मिश्रा की अदालत ने कोज़ा के साथ हुई घटना को लेकर अपना फैसला सुनाया है. हालांकि फैसले के वक्‍त विदेशी नागरिक कोज़ा मौजूद नहीं था, लेकिन उसे न्‍याय मिलने से खुशी जरूरी हुई होगी.
ये भी पढ़ें-


क्‍या NRC के मुद्दे पर बिहार के CM नीतीश कुमार लेंगे यू-टर्न?
45 साल के युवक ने 12 साल की नाबालिग के साथ किया रेप, पुलिस ने आरोपी को जेल भेजा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading