लाइव टीवी

औरंगाबाद के देव मंदिर में छठ की अनूठी छटा, एप से कर सकते हैं लाइव दर्शन

News18 Bihar
Updated: November 13, 2018, 3:17 PM IST
औरंगाबाद के देव मंदिर में छठ की अनूठी छटा, एप से कर सकते हैं लाइव दर्शन
देव के सूर्य मंदिर के दर्शन व यहां बड़े स्तर पर होने वाले छठ पूजा से लोगों की आस्था को जोड़े रखने के लिए जिला प्रशासन ने एक एप लांच किया है. एप पर एक क्लिक से लाइव दर्शन के साथ ही यहां उपलब्ध सुविधा से जुड़ी सारी जानकारी तत्काल मिल जाएगी.

देव के सूर्य मंदिर के दर्शन व यहां बड़े स्तर पर होने वाले छठ पूजा से लोगों की आस्था को जोड़े रखने के लिए जिला प्रशासन ने एक एप लांच किया है. एप पर एक क्लिक से लाइव दर्शन के साथ ही यहां उपलब्ध सुविधा से जुड़ी सारी जानकारी तत्काल मिल जाएगी.

  • Share this:
औरंगाबाद की सूर्यनगरी देव छठ व्रतियों के स्वागत के लिए सज धजकर पूरी तरह से तैयार है. व्रतियों की भारी भीड़ की संभावना को देखते हुए  जिलाधिकारी और एसपी ने खुद इसकी कमान संभाल रखी है. सुरक्षा की यदि बात करें तो पूरे मेला क्षेत्र में 250 सब इंस्पेक्टर, 10 इंस्पेक्टर तथा 5 डीएसपी रैंक के अधिकारीयों की प्रतिनियुक्ति की गयी है.

इसके अलावा जिला पुलिस बल के जवानों की भी बड़ी संख्या में तैनाती की गयी है.  जो न सिर्फ सुरक्षा का इंतजाम देखेंगे, बल्कि व्रतियों और श्रद्धालुओं की किसी भी समस्या का समाधान करने को तत्पर रहेंगे.

ये भी पढ़ें- छठ के लिए सज-धज कर तैयार पटना के घाट, पूरे बिहार में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम


डीएम राहुल रंजन महिवाल ने बताया कि यहां लगभग 12 से 15 लाख लोगों के पहुंचने की संभावना है जिसके मद्देनज़र जिला प्रशासन ने सभी आवश्यक तैयारियां कर ली हैं.

उन्होंने बताया कि कल शाम से ही श्रद्धालुओं के यहां पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया था, जो लगातार जारी है. हालांकि इस बार छठ पर्व पर आम लोग घर बैठे ऑनलाइन देव सूर्य मंदिर का लाइव दर्शन कर सकते हैं, या देव छठ मेला का प्रसारण देख सकते हैं.

एेतिहासिक और विश्वप्रसिद्ध देव के सूर्य मंदिर के दर्शन व यहां बड़े स्तर पर होने वाले छठ पूजा से लोगों की आस्था को जोड़े रखने के लिए जिला प्रशासन ने यह एप लांच किया है. एप पर एक क्लिक से लाइव दर्शन के साथ ही यहां उपलब्ध सुविधा से जुड़ी प्रत्येक जानकारी तत्काल मिल जाएगी. एप का नाम ‘देव छठ पूजा’ है.
Loading...

ये भी पढ़ें - लालू-राबड़ी आवास से गायब है छठ की रौनक, घर में पसरा अजीब सा सन्नाटा

बता दें कि छठ के दौरान देव मंदिर के प्रति लोगों की विशेष आस्था होती है.  इस अवसर पर विशाल मेला लगता है. यहां पर्यटन विभाग एवं जिला प्रशासन के प्रयास से प्रत्येक वर्ष सूर्य अचला सप्तमी को महोत्सव का भी आयोजन होता है. कार्तिक एवं चैत में छठ करने कई राज्यों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है. इस अवसर पर सूर्यकुंड तालाब का विशेष महत्व है. छठ मेले के समय देव का कस्बा लघु कुंभ बन जाता है। छठ गीत से देव गुंजायमान हो उठता है.

( रिपोर्ट - संजय )

ये भी पढ़ें- नवादा जेल में गूंज रहे छठ के गीत, महिला कैदी कर रहीं व्रत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए औरंगाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2018, 3:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...