होम /न्यूज /बिहार /बिहार: भाकपा माओवादी का जोनल कमांडर जुगल शाह गिरफ्तार, औरंगाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी

बिहार: भाकपा माओवादी का जोनल कमांडर जुगल शाह गिरफ्तार, औरंगाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी

औरंगाबाद पुलिस की गिरफ्त में कुख्यात नक्सली जुगल शाह.

औरंगाबाद पुलिस की गिरफ्त में कुख्यात नक्सली जुगल शाह.

Bihar News: कुख्यात नक्सली जुगल शाह की गिरफ्तारी को लेकर काफी लंबे समय से कोशिश की जा रही थी. इसी प्रयास के तहत की गई छ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कुख्यात जुगल शाह का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है. इसके विरूद्ध जिले के कई थानों में अपराधिक मुकदमे दर्ज हैं.
कुख्यात जुगल पर 18 मामले दर्ज होने की जानकारी, अन्य सीमावर्ती थानों से आपराधिक इतिहास पता लगाया जा रहा है.

रिपोर्ट- संजय सिन्हा
औरंगाबाद. नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के जोनल कमांडर जुगल शाह को औरंगाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. जुगल के खिलाफ कुल 18 मामले दर्ज हैं और वह पिछले कई सालों से फरार चल रहा था. इस कुख्यात नक्सली की गिरफ्तारी जिला पुलिस एवं सुरक्षा बलों के लिए एक बड़ी कामयाबी बताई जा रही है. बता दें, पुलिस इसकी काफी दिनों से तलाश कर रही थी और निश्चित ठिकानों पर छापेमारी भी कर रही थी. लेकिन हर बार जुगल चकमा देकर बच निकलता था. लेकिन, आखिरकार वह धर दबोचा गया.

माओवादी जुगल ढिबरा थाना क्षेत्र के छुछिया गांव का रहने वाला है. यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार एवं 29वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल, गया के समादेष्टा हरे कृष्ण गुप्ता के संयुक्त निर्देशन में तथा भलुआही कैंप के सहायक समादेष्टा रवि कुमार के नेतृत्व में ढिबरा थानाध्यक्ष एवं देव थानाध्यक्ष के द्वारा की गई. इसमें कुख्यात नक्सली को पकड़ पाने में सफलता हाथ लगी है.

एसपी ने बताया कि कुख्यात नक्सली की गिरफ्तारी को लेकर काफी लंबे समय से कोशिश की जा रही थी. इसी प्रयास के तहत की गई छापेमारी के दौरान वह ढिबरा थाना अंतर्गत वन विशुनपुर नहर से गिरफ्तार किया गया. पूछताछ के क्रम में उसने बताया कि वह वर्ष 2009 से नक्सली संगठन में सक्रिय है और वर्ष 2015 से कौलेश्वरी जोन का जोनल कमांडर के रूप में संगठन का नेतृत्व करता रहा है. इसका औरंगाबाद जिले के मदनपुर, अंबा, ढिबरा एवं देव थाना के अलावा गया जिला एवं झारखण्ड राज्य के सीमावर्ती क्षेत्रों में काफी प्रभाव रहा है. यह ईनामी और चर्चित नक्सली विनय यादव के साथ संगठन को मजबूत करने में बड़ी भूमिका निभाता रहा है.

News18 Hindi

नक्सली जुगल शाह की गिरफ्तारी के बाद मीडिया को जानकारी देते हुए औरंगाबाद के पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इसका लंबा आपराधिक इतिहास भी रहा है. इसके विरूद्ध जिले के कई थानों में अपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. इनमें मदनपुर थाना में 05, देव थाना- 02, ढिबरा थाना 06, अंबा – 01 कुल 14 काण्ड एवं गया जिला के बांके बाजार एवं आमस थाना में 04 कुल-18 नक्सली कांडों का अभियुक्त है.

वर्ष 2016 में ढिबरा थाना अंतर्गत हरिना नाला के पास सुनियोजित तरीके से अभियान से लौट रहे सुरक्षा बलों पर आईईडी. ब्लास्ट करने और फायरिंग करते हुए सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ की घटना हुई थी, जिसमें 4 नक्सली मारे गए थे. वहीं कई अत्याधुनिक हथियारा और विस्फोटक बरामद किया गया था. इस संदर्भ में बाकेबाजार थाना में इस नक्सली के विरुद्ध कांड दर्ज किया गया था.

एसपी ने कहा कि इसके अतिरिक्त अन्य सीमावर्ती थानों से इसका आपराधिक इतिहास पता लगाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस कार्रवाई से नक्सलियों का मनोबल काफी गिरा है. एसपी ने बताया कि नक्सली गतिविधियों पर अंकुश लगाये जाने को लेकर आगे भी छापामारी अभियान लगातार जारी रहेगा.

Tags: Aurangabad, Bihar News, Naxal terror, Naxal violence, Naxal-Hit Areas

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें