लाइव टीवी

सात साल के बच्‍चे पर जमीन कब्‍जाने का मुकदमा

News18
Updated: August 29, 2014, 9:30 AM IST
सात साल के बच्‍चे पर जमीन कब्‍जाने का मुकदमा
एसडीएम ओमप्रकाश मंडल की कोर्ट में गुरुवार को दो नाबालिग मासूमों पर फैसला सुनाया गया। सात साल के एक नाबालिग आरोपी को गोद में उठाकर कोर्ट को दिखाना पड़ा।

एसडीएम ओमप्रकाश मंडल की कोर्ट में गुरुवार को दो नाबालिग मासूमों पर फैसला सुनाया गया। सात साल के एक नाबालिग आरोपी को गोद में उठाकर कोर्ट को दिखाना पड़ा।

  • News18
  • Last Updated: August 29, 2014, 9:30 AM IST
  • Share this:
एसडीएम ओमप्रकाश मंडल की कोर्ट में गुरुवार को दो नाबालिग मासूमों पर फैसला सुनाया गया। सात साल के एक नाबालिग आरोपी को गोद में उठाकर कोर्ट को दिखाना पड़ा।

दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक सुनवाई के बाद कोर्ट ने दोनों भाइयों को आरोपमुक्त कर दिया। साथ ही शिकायत से दोनों का नाम निकालने का आदेश दिया। रंजीत की उम्र सात साल है और पंकज की उम्र 11 साल। दोनों भूमि विवाद के मामले में भादसं की धारा 107 के तहत हुई।

अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद सिंह ने दीनानाथ यादव बनाम उदय यादव मो.नं. 1030/14 में बहस कर बताया कि खुदवा पुलिस ने मामले में लापरवाही की है। अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि बिना सत्यापन के ही सीधे वादी के आवेदन पर ही आरोपी बना दिया।

अधिवक्ता ने कहा कि लल्लू कुमार भी नाबालिग है और उसकी उम्र 14 साल है। दस्तावेजों के अनुसार रंजीत की जन्म तारीख 10.6.2006 है और वो चौथी कक्षा का छात्र है। पंकज पांच में पढ़ता है और उसकी जन्म तारीख 5.2.2003 है। दोनों प्रमाण पत्र स्कूल ने 16 अगस्त 2014 को जारी किया है। मामले में कुल दस आरोपी बनाए गए हैं।

वहीं डीएसपी मो अनवर जावेद ने माना कि लापरवाही हुई है। साथ ही कहा कि इस मामले की जांच होगी।

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए औरंगाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2014, 8:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर