लाइव टीवी

बिहार में पुलवामा दोहराना चाहते थे नक्सली, मगर CRPF ने यूं नाकाम कर दी साजिश
Aurangabad-Bihar News in Hindi

Anoop Mishra | News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 8:30 PM IST
बिहार में पुलवामा दोहराना चाहते थे नक्सली, मगर CRPF ने यूं नाकाम कर दी साजिश
सीआरपीएफ के 205 कोबरा और 153 बटालियन के जवानों ने सफलतापूर्वक नक्‍सलियों की साजिश को नाकाम कर दिया है. (फाइल फोटो)

सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों को निशाना बनाने के लिए नक्‍सलियों (Naxalites) ने करीब एक किमी के दायरे को आईईडी से पाट दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 8:30 PM IST
  • Share this:
औरंगाबाद: कश्मीर के पुलवामा (Pulwama) की तर्ज पर सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों को निशाना बनाने की बड़ी साजिश (conspiracy) का खुलासा हुआ है. इस बार साजिश को बिहार (Bihar) के औरंगाबाद (Aurangabad) में नक्‍सली (Naxalites) अंजाम देने वाले थे. यह साजिश कितनी बड़ी थी, इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि नक्‍सलियों ने करीब एक किमी के इलाके को आईईडी (IED) से पाट दिया था. गनीमत रही कि नक्‍सली अपने मंसूबों में सफल हो पाते, इससे पहले ही सीआरपीएफ ने हमले के लिए लगाई गई 64 आईईडी को खोज निकाला. बता दें कि इन 64 आईईडी को खोजने और डिफ्यूज करने में सीआरपीएफ के 200 जवानों को 12 घंटे से भी अधिक का समय लग गया.

सीआरपीएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, आज तड़के करीब 4 बजे सीआरपीएफ इंटेलीजेंस विंग को सूचना मिली कि नक्‍सली एक बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में हैं. बीते दिनों, नक्‍सलियों ने जिस तरह छत्‍तीसगढ़ के सुकमा में 17 जवानों को अपना निशाना बनाया, कुछ उसी तरह वे इस बार सीआरपीएफ के जवानों को निशाना बनाना चाहते थे. करीब एक घंटे की जद्दोजहद के बाद, सीआरपीएफ इंटेलीजेंस की टीम ने कई महत्‍वपूर्ण सुराग इकट्ठा किए. पूरी तरह से आश्‍वस्‍त होने के बाद, सीआरपीएफ की 205 कोबरा और 153 बटालियन के जवानों को सुबह करीब 5 बजे मौके के लिए रवाना कर दिया गया.

जहां देखा, वहां मिला एक आईईडी
सीआरपीएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि सुबह करीब 5:30 बजे सीआरपीएफ कमांडोज की टीम औरंगाबाद के मदनपुर थानाक्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सहियारी गांव पहुंच गई. मुखबिरों से नक्‍सलियों की गतिविधियों को पुख्‍ता करने के बाद सीआरपीएफ के कमांडोज ने अपना ऑपरेशन शुरू किया. कुछ ही समय की कवायद के बाद, सीआरपीएफ के कमांडोज को पहला आईईडी मिल गया. इसके बाद, तो जैसे आईईडी निकलने की झड़ी सी लग गई. सीआरपीएफ के कमांडोज ने जमीन के नीचे बिछे तारों के सहारे करीब 64 आईईडी खोज निकाले. इन आईईडी को करीब एक किमी के दायरे में बिछाया गया था.



घंटों की कवायद के बाद डिफ्यूट हुईं आईईडी
सीआरपीएफ के सूत्रों के अनुसार, इतनी भारी तादाद में आईईडी मिलने के बाद बम डिस्‍पोजल टीम को भी मौके पर बुला लिया गया. उन्‍होंने बताया कि दोपहर करीब एक बजे सभी आईईडी को खोजने का काम पूरा कर लिया गया था. जिसके बाद, इनको डिफ्यूज करने का काम शुरू किया गया. शाम करीब 5 बजे सभी आईईडी को सफलतापूर्वक डिफ्यूज कर लिया गया गया. सीआरपीएफ के बड़े अधिकारी ने बताया कि इस साजिश को नाकाम करने बाद अब नक्‍सलियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है. जल्‍द ही, साजिश रचने वाले नक्‍सलियों को उनके अंजाम तक पहुंचा दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: 

COVID-19: लॉकडाउन को लेकर सरकार सख्त, उल्लंघन किया तो इन धाराओं में होगी कार्रवाई
COVID-19: जांच के बाद ही घर जा सकेंगे परदेसी, स्कूलों में बीतानी होगी रात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए औरंगाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 8:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर