लाइव टीवी

औरंगाबाद हिंसा में विकलांग हो चुके नईम को सता रही है परिवार की चिंता

News18 Bihar
Updated: May 13, 2018, 2:03 PM IST
औरंगाबाद हिंसा में विकलांग हो चुके नईम को सता रही है परिवार की चिंता
घायल नईम अपने परिवार से साथ

औरंगाबाद हिंसा में घायल नईम ने मदद पहुंचाने करने के लिए बिहार सरकार को शुक्रिया कहा है.

  • Share this:
बिहार के औरंगाबाद में पिछले 26  मार्च को रामनवमी जुलुस के दौरान भड़की हिंसा में हुई गोलीबारी की घटना में गंभीर रूप से घायल नईम इलाज़ के बाद अब औरंगाबाद लौट चूका है. पेशे से एम्बुलेंस चालक नईम की जान सरकारी प्रयास से बच तो जरूर गयी मगर दोनों पैरों से हमेशा के लिए लाचार हो चूका नईम बिस्तर पर पड़े पड़े इस उधेड़बुन में फंसा है कि अब उनके परिवार का क्या होगा.

हादसे के बाद वैसे तो राज्य सरकार ने तत्परता दिखाते हुए औरंगाबाद से लेकर एम्स दिल्ली तक उसके इलाज़ का सारा खर्चा जरूर वहन किया और इस बात का न सिर्फ नईम बल्कि उसका पूरा परिवार भी शुक्रगुज़ार है, मगर इलाज़ में आगे और भी होनेवाले खर्चों की चिंता उन्हें सत्ता रही है. उन्हें डर है तो बस इस बात का कि कहीं आगे होने वाले इलाज के खर्चों से सरकार कहीं अपना हाथ न खींच ले.

इधर, नईम के इलाज़ के बाद  घर वापस लौटने की सूचना पर उसका हाल जानने वालों की भीड़ जुटने लगी. उसकी दशा देख सबों ने चिंता जाहिर की और सरकार से उसके रोज़ी रोज़गार की व्यवस्था करने की मांग की. लोगों ने बताया कि उसी की कमाई से ही उसका पूरा परिवार चलता था मगर दिव्यांगता की वजह से अब उसके परिवार के समक्ष दो जून की रोटी की समस्या भी उठ कड़ी हो गयी है.

बहरहाल, गंभीर रूप से घायल नईम को तत्काल यदि सरकारी सहायता नहीं मिली होती तो नईम शायद आज हम सबों के बीच नहीं रहता. सरकार के इस सकारात्मक पहल की लोग जमकर तारीफ़ कर रहे हैं वहीँ लोगों में सरकार के प्रति भरोसा भी बढा है. जरुरत है इस पहल को निरंतर जारी रखने की ताकि सरकारी सिस्टम पर लगातार उठ रहे सवालों को करारा जवाब मिल सके. (औरंगाबाद से संजय कुमार सिन्हा की रिपोर्ट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए औरंगाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 13, 2018, 2:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर