नबीनगर विधानसभा सीट: क्या इस बार के चुनाव में जीत की हैट्रिक लगा पाएगा JDU

2015 के चुनाव में बिहार की नबीनगर सीट से जेडीयू ने जीत हासिल की थी
2015 के चुनाव में बिहार की नबीनगर सीट से जेडीयू ने जीत हासिल की थी

नबीनगर विधानसभा सीट- बिहार की इस सीट का प्रतिनिधित्व लवली आनंद भी कर चुकी हैं. साल 1996 के उप-चुनाव में फिर पासा पलटा और समता पार्टी की लवली आनंद ने जीत हासिल की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 10:55 AM IST
  • Share this:
रिपोर्ट- संजय कुमार सिन्हा

औरंगाबाद. बिहार विधानसभा चुनाव के तारीखों का ऐलान अभी नहीं हुआ है बावजूद विभिन्न राजनीतिक दलों की सियासी तैयारियां परवान पर है. औरंगाबाद जिले के तहत आने वाले नबीनगर विधानसभा क्षेत्र में भी चुनावी हलचल तेज हो गई है. इस विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत नबीनगर और बारूण प्रखण्ड शामिल है. राजनीतिक पृष्ठभूमि की बात करें तो नबीनगर जेडीयू (JDU) का गढ़ माना जाता रहा है. 2010 तथा 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू ने इस सीट से जीत हासिल की है. इस क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या 2,65,883 है, जिनमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 1,44,576 है जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 1,21,307 है.

कब कौन जीता



पिछले चुनाव की बात करें तो इस विधानसभा सीट पर मतदान का प्रतिशत 53 रहा था. इस सीट से जेडीयू के वीरेंद्र कुमार सिंह मौजूदा विधायक हैं. 1995 के चुनाव में इस सीट से जनता दल के वीरेंद्र कुमार सिंह के सिर जीत का सेहरा सजा था. साल 1996 के उप-चुनाव में फिर पासा पलटा और समता पार्टी की लवली आनंद ने जीत हासिल की. बाद में आरजेडी के भीम कुमार ने 2000 में इस सीट पर कब्जा जमाया था जिन्होंने 2005 के चुनाव में भी इस सीट पर अपना कब्ज़ा बरकरार रखा. 2010 और 2015 में हुए चुनाव में जीत हासिल कर जेडीयू ने इस सीट पर फिलहाल अपना कब्जा जमा रखा है.
क्या इस बार बदल जाएगा समीकरण

नबीनगर सीट पर पिछले दो चुनावों से जेडीयू का कब्जा है. 2010 के चुनाव में जेडीयू के वीरेंद्र कुमार सिंह ने 11834 मतों के अंतर से राजद के विजय कुमार सिंह को मात दी थी. वीरेन्द्र कुमार सिंह को 36860 मत मिले थे वहीं विजय को 25,036 वोट हासिल हुए थे, वहीं 2015 के चुनाव में वीरेंद्र कुमार सिंह ने एक बार फिर बाजी मार ली. जेडीयू के वीरेन्द्र कुमार सिंह ने बीजेपी के गोपाल नारायण सिंह को करारी मात दी थी. वीरेन्द्र कुमार को 42035 वोट मिले थे तो गोपाल नारायण सिंह को 36774 वोट पर ही संतोष करना पड़ा था.

कई दावेदार मैदान में

अब इस बार के चुनाव में भी चर्चाओं का बाजार गर्म है. कयास लगाए जा रहे हैं कि मौजूदा विधायक वीरेन्द्र कुमार फिर से अपनी किस्मत आजमाने मैदान में उतर सकते हैं तो इस बार आरजेडी से विजय कुमार सिंह समेत कई और दावेदार भी मैदान में अपनी किस्मत आजमाने आ सकते हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि इस बार के चुनाव में जदयू क्या अपना इतिहास दोहरा पायेगी या फिर जीत का सेहरा किसी और के सर बंधेगा? हालांकि इसका फैसला तो चुनाव परिणाम आने के बाद ही हो पायेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज