• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बांका को पयर्टन हब बनाएगी बिहार सरकार, CM नीतीश ने ओढ़नी जलाशय का किया भ्रमण 

बांका को पयर्टन हब बनाएगी बिहार सरकार, CM नीतीश ने ओढ़नी जलाशय का किया भ्रमण 

एक दिन के बांका दौरे पर गए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंदरा पर्वत रोप-वे का उद्घाटन किया फिर ओढ़नी जलाशय में मोटरबोट से भ्रमण कर निरीक्षण किया

एक दिन के बांका दौरे पर गए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंदरा पर्वत रोप-वे का उद्घाटन किया फिर ओढ़नी जलाशय में मोटरबोट से भ्रमण कर निरीक्षण किया

Bihar News: बांका जिले में ओढ़नी डैम का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि वो यहां पहली बार आए हैं. पर्यटन के दृष्टिकोण से यह काफी महत्वपूर्ण स्थल है. सरकार द्वारा यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए योजनाबद्ध ढंग से काम किया जा रहा है. मैंने भी भ्रमण और निरीक्षण के दौरान कुछ सुझाव दिये हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

बांका. बिहार के बांका जिले के दौरे पर आए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने ओढ़नी जलाशय का मोटरबोट से भ्रमण कर निरीक्षण किया. उन्होंने ओढ़नी जलाशय (Odhni Dam) के दूसरे छोर पर उतरकर वहां की मनोरम वादियों में कुछ पल बिताया. ओढ़नी डैम का निरीक्षण के बाद आईलैंड पर न्यूज़ 18 से बात करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि वो यहां पहली बार आए हैं. हमने इस जलाशय का निरीक्षण किया है. पर्यटन (Tourism) के दृष्टिकोण से यह काफी महत्वपूर्ण स्थल है. सरकार द्वारा यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए योजनाबद्ध ढंग से काम किया जा रहा है. मैंने भी भ्रमण और निरीक्षण के दौरान कुछ सुझाव दिये हैं.

उन्होंने कहा कि पहाड़ी इलाके में वृक्षारोपण कराया जा रहा है. साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा जा रहा है कि यहां के पुराने वृक्षों की प्रजातियों को सुरक्षित रखा जाय. यहां राज्य के साथ-साथ बाहर से भी पर्यटक घूमने आयेंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने आज (मंगलवार) पुरातात्विक स्थल भदरिया का भी हवाई सर्वे किया है. इस जगह की खुदाई होने पर दो से ढाई हजार वर्ष पहले के इतिहास की जानकारी मिलने की संभावना है. उन्होंने कहा कि खेती के लिए भी इस जलाशय का उपयोग किया जाता है. उन्होंने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने की यहां काफी गुंजाइश है. पर्यावरण संरक्षण के दृष्टिकोण से भी यह स्थल महत्वपूर्ण है. यहां हरियाली और जल का संरक्षण हो रहा है. इस जलाशय की साफ-सफाई की भी व्यवस्था की गई है. नई पीढ़ी के लोगों के साथ ही आने वाले पर्यटकों को यहां आकर काफी कुछ जानने और समझने को मिलेगा.

बता दें कि ओढ़नी जलाशय बांका जिला मुख्यालय से लगभग 16 किलोमीटर दूर मनोरम वादियों के बीच स्थित है. इसका निर्माण वर्ष 2001 में किया गया था. इस जलाशय की प्राकृतिक रुपरेखा को ध्यान में रखते हुए बिना किसी छेड़छाड़ के सभी कार्य किये जा रहे हैं. डैम साइड कैंपिंग, मेडिटेशन कैंप, मड हाऊस स्टे, जंगल सफारी, नेचर सफारी, माउंटेन कैंपिंग, डैम साइड साइक्लिंग, बर्मा ब्रीज, जिप लाइन और डैम विशेष में कई सारे परदेशी पक्षियों के आने पर बर्ड वाचिंग का अनोखा संयोग बनता है. साथ ही यहां की भौगोलिक संरचना भी काफी अच्छी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज