एम्बुलेंस में छिपाकर भारी मात्रा में झारखंड से बिहार लायी जा रही थी शराब, तीन गिरफ्तार
Banka-Bihar News in Hindi

एम्बुलेंस में छिपाकर भारी मात्रा में झारखंड से बिहार लायी जा रही थी शराब, तीन गिरफ्तार
बिहार में एंबुलेंस में शराब तस्करी का भंडाफोड़.

बिहार में पूर्ण शराबबंदी (Complete prohibition) के बावजूद लॉकडाउन के दौरान में एम्बुलेंस (Ambulance) की आड़ में शराब की तस्करी के कई मामले सामने आ चुके हैं.

  • Share this:
बांका. पूर्ण शराबबंदी (Complete prohibition) के बावजूद भी बांका जिला (Banka district) से गुजरने वाला मार्ग मानो शराब तस्करों के लिये सबसे सुरक्षित रास्ता बन गया है. आये दिन शराब तस्करी को लेकर उत्पाद विभाग और स्थानीय पुलिस की कार्रवाई के मामले सामने आते रहते हैं. दरअसल बांका जिले के तीन तरफ से सीधा झारखंड (Jharkhand) से सीमा जुड़े होने का  फायदा शराब तस्कर उठाते हुए घटना को अंजाम देते रहता हैं. इसी कड़ी में एम्बुलेंस (Ambulance) से शराब की तस्करी का मामला सामने आया है. इस मामले में तीन तस्करों की भी गिरफ्तारी हुई है. कार्रवाई बौंसी पुलिस द्वारा गुप्त सूचना के आधार पर की गयी है.

तस्करी करने वाले भी इतने शातिर हो चुके हैं कि एम्बुलेंस के हर भाग में तहखाना बनाकर शराब की तस्करी करते हैं. बुधवार की घटना को लेकर बताया गया कि गिरफ्तार तस्करों में से एक युवक मरीज के रूप में सोया हुआ था जिससे किसी देखने के बाद भी शक नहीं हो. वहीं दूसरा उसका परिजन और तीसरा चालक के रूप में था. गिरफ्तार तस्करों में सभी भागलपुर जिला का रहने वाला चितरंजन पांडेय, संदीप और गौतम कुमार है.

चितरंजन भागलपुर के बैजानि का रहने वाला है, वहीं संदीप और गौतम भगलपुर के ही इशाकचक का रहने वाला है. पुलिसिया पूछताछ में तीनों ने बताया कि शराब की खेप भगलपुर ले जायी जा रही थी, लेकिन पुलिस अब मुख्य सरगना की खोज में लगी हुई है. इस बाबत बौंसी के थानाध्यक्ष राजेश यादव ने बताया कि शराब की खेप झारखंड से भागलपुर ले जाई जा रही थी. इसके सरगना की जानकारी लेने की कोशिश की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज