• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Lockdown 3.0: कोलकाता से 10 दिन पैदल चलकर बांका पहुंची हलवाइयों की टोली, ये कहा...

Lockdown 3.0: कोलकाता से 10 दिन पैदल चलकर बांका पहुंची हलवाइयों की टोली, ये कहा...

कोलकाता से 10 दिन पैदल चलकर बांका पहुंची हलवाइयों की टोली

कोलकाता से 10 दिन पैदल चलकर बांका पहुंची हलवाइयों की टोली

कोलकाता से हलवाइयों (Confectioners) की एक टोली 10 दिन पैदल चलकर बांका (Banka) पहुंची है. पिछले 10 दिनों से मूढ़ी और दालमोठ खाकर ये लोग अपनी पेट की आग बुझाते रहे. अब ये वापस कोलकाता लौटने के सवाल पर रो पड़ते हैं.

  • Share this:
बांका. कोलकाता से हलवाइयों की एक टोली 10 दिन पैदल चलकर बांका (Banka) पहुंची है. अब तक कोलकाता शहर में शादी, ब्याह (Marriage) सहित अन्य धार्मिक आयोजनों में हज़ारों लोगों को हलवा और पूड़ी बनाकर खिलाने वाले हलवाई (Confectioners) पिछले 10 दिनों से मूढ़ी और दालमोठ खाकर किसी तरह अपनी जान बचाते रहे. ये सभी लोग कटोरिया प्रखंड के मोथाबाड़ी और सतलेटवा गांव के रहने वाले हैं. लॉक डाउन में किसी तरह का काम नहीं मिलने के बाद से 25 मार्च से अपने किराये के मकान में किसी तरह समय काटते हुए इन सभी हलवाइयों ने यह निर्णय लिया कि पैदल ही अपने अपने घर निकला जाए. इस तरह पैदल चलते हुए वे करीब दस दिन बाद अपने घर कटोरिया पहुंचे.

अब वापिस नहीं जाएंगे परदेस

इनलोगों का कहना है कि लॉक डाउन के शुरू होने के बाद से कोई काम नहीं मिलने के चलते जो भी पहले का कमाया हुआ पैसा था वह भी खर्च हो गया. इसके चलते अब खाने और पीने से लेकर मकान का किराया देने में भी कठिनाई होने लगी थी. राजू, सुरेंद्र, मुकेश यादव सहित सभी का कहना है कि मुख्य हलवाई के साथ हम सभी हेल्पर के रूप में काम करते थे जिससे हमारी ठीक ठाक कमाई हो जाती थी और परिवार का खर्च अच्छी तरह से चल जाता था लेकिन लॉक डाउन के बाद कामकाज ठप होने से स्वयं के बेरोजगार होने के साथ ही घर का खर्च चलाना भी मुश्किल होता जा रहा है.

क्वारंटाइन में रखे जाएंगे सभी

कटोरिया पहुंचने के बाद इस टोली में शामिल लोगों ने कहा कि खाना खाने के बाद वे स्वयं ही प्रशासन के हवाले होकर क्वारंटाइन में पर चले जाएंगे. हलवाइयों की बात मानें तो इस समय कोलकाता में बहुत गड़बड़ मची हुई है. उन्होंने बताया कि जिनके पास कोई साधन नहीं है वो अपने घरों को पैदल ही निकलने की बात कह रहे हैं. सभी का कहना है कि कोलकाता जैसे शहर से पैदल आने के बाद संक्रमण की संभावना के चलते क्वारंटाइन में ही रहेंगे ताकि परिवार के साथ अन्य लोगो को कोई परेशानी नहीं हो.

फफक कर रोने लगे और कहा-इलाके में ही करेंगे काम

लॉक डाउन खत्म होने के बाद पुनः कोलकाता जाने के सवाल पर ये सभी फफक कर रो पड़े और वापिस नहीं जाने की बात की. उन्होंने कहा कि वे अपने ही इलाके में हलवाई का काम शुरू करेंगे.

ये भी पढ़ें: COVID-19: बिहार में जांच में आएगी तेजी, निजी लैब में ₹1500-2500 में करा सकेंगे

पटना: बाइक सवार अपराधियों ने दिनदहाड़े दो लोगों को मारी गोली, एक की मौत

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज