लाइव टीवी

बांका में बालू के विवाद में दिनदहाड़े बमबाजी, बाल-बाल बचे दो लोग
Banka-Bihar News in Hindi

Nagendra Kumar | News18 Bihar
Updated: December 19, 2019, 1:39 PM IST
बांका में बालू के विवाद में दिनदहाड़े बमबाजी, बाल-बाल बचे दो लोग
बिहार के बांका का वो जगह जहां बमबारी की घटना हुई

बालू संवेदक (Contractor) महादेव इन्क्लेव के धर्मकांटा के पास अवैध बालू (Sand Mining) के परिवहन को लेकर हुई झड़प के बाद जब कर्मी अपने रूम में गये थे इसी बीच ये घटना हुई.

  • Share this:
बांका. बिहार का बांका जिला बालू के अवैध खनन (Sand Mining) और उसको लेकर हुई झड़प के लिए हमेशा से सुर्खियों में रहता है. गुरुवार को अहले सुबह बांका थाना (police Station) के शंकरपुर स्थित बालू संवेदक के धर्मकांटा पर ऐसे ही एक मामले को लेकर हुई झड़प और फिर अपराधियों द्वारा बमबाजी की घटना हुई है. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटना स्थल पहुंची और मामले की जांच की. पुलिस ने उस रूम को सील कर दिया है जिस पर बम पटका गया था.

जानकारी के मुताबिक बालू संवेदक महादेव इन्क्लेव के धर्मकांटा के पास अवैध बालू के परिवहन को लेकर हुई झड़प के बाद जब कर्मी अपने रूम में गये थे इसी बीच धर्मकांटा के पिछले हिस्से में गनमैन सुनील पांडेय और गोपाल सिह थे जो बम की चपेट में आते-आते किसी तरह से भागने में सफल हुए. इस घटना में सुनील पांडेय को जहां हाथ में बम का झटका लगा है वहीं गोपाल सिंह के सिर पर हल्की चोट लगी है.

एक वर्ष पूर्व भी हुई थी घटना

करीब एक वर्ष पूर्व भी बालू के अवैध खनन और परिवहन को लेकर हुई झड़प के बाद भी अपराधियों द्वारा बमबाजी, गोलीबारी के साथ लूट की भी घटना को अंजाम दिया गया था जिसको लेकर बांका थाना में मामला दर्ज कराया गया था. फिर वैसे ही मामले में आज अहले सुबह भी घटना हुई है.

पुलिस भी बनती रही है माफियाओं का निशाना

जिला की पुलिस भी बालू माफियाओं का शिकार बनते रहे हैं. ऐसे ही मामले में बांका के दो-दो पुलिस पदाधिकारियों पर हमले जो चुके हैं. जिसमें बांका के SDPO पर अमरपुर में जोरदार हमला करते हुए बुरी तरह से जख्मी कर दिया था,बावजूद आज तक कोई भी नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है, वहीं रजौन में सर्किल इंस्पेक्टर पर भी हमला हो चुका है इस मामले में भी आरोपी पुलिस से आज़ाद होकर घूम रहे हैं.

पुलिस बोलीबमबाजी की घटना को लेकर धर्मकांटा के इंचार्ज भंवर सिंह की मानें तो छह सात ट्रक अवैध बालू का परिवहन करने से रोकने पर अपराधियों का झुंड पीछे के रूम मरीन जिसमें गनमैन था चार बम से हमला किया गया जिससे एस्बेस्टस का छत ध्वस्त हो गई. इस घटना को लेकर 12 नामजदों के साथ ही कुछ अज्ञात के विरुद्ध केस दर्ज कराने की बात कही जा रही है. बांका थानाध्यक्ष राजेश कुमार झा ने मामले की जांच फोरेंसिक टीम से करने की बात कही.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 19, 2019, 1:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर