लाइव टीवी

Lockdown: बांका में फंसे बंगाल से लौट रहे तीन सौ मजदूर, दो दिन से भूखे कट रही जिंदगी
Banka-Bihar News in Hindi

Nagendra Kumar | News18 Bihar
Updated: March 26, 2020, 5:54 PM IST
Lockdown: बांका में फंसे बंगाल से लौट रहे तीन सौ मजदूर, दो दिन से भूखे कट रही जिंदगी
बिहार के बांका में सड़क के किनारे बैठे मजदूर

करीब तीन सौ की संख्या में पहुंचे सभी दिहाड़ी मजदूर (Labor) बंगाल के धानकुनी में ट्रकों से छर्री और बालू लोड और अनलोड का काम करते थे. लॉकडाउन (Lockdown) होने के बाद से जहां कार्य कर रहे थे वहां काम बंद हो गया और सभी को मजबूरन वापस लौटना पड़ा.

  • Share this:
बांका. रोजी-रोटी की तलाश में बंगाल (West Bengal) गए बिहार के सैकड़ों मजदूर कोरोना (Corona) के चक्कर में ना घर के रहे न घाट के. कोरोना को लेकर दो दिन पहले सम्पूर्ण देश में लागू लॉकडाउन (Lockdown) के चलते बिहार के कई जिले के दिहाड़ी मजदूर को पहले बंगाल के धानकुनी से भगाया गया. वहां से किसी तरह अपने घरों तक पहुंचने के लिये झारखंड से लगे बिहार के चेकपोस्ट भलजोर पहुंचे लेकिन यहां पिछले तीन दिनों से बांका जिला प्रशासन ने लॉकडाउन के चलते आगे के सफर पर रोक लगा दी है.

बंगाल में मजदूरी करते हैं सभी

ये मजदूर फिलहाल न घर के हैं ना ही घाट के. करीब तीन सौ की संख्या में पहुंचे सभी दिहाड़ी मजदूर बंगाल के धानकुनी में ट्रकों से छर्री और बालू लोड और अनलोड का काम करते थे. लॉकडाउन  होने के बाद से जहां कार्य कर रहे थे वहां काम बंद होने के बाद से लोग स्थानीय प्रशासन द्वारा वहां से भगाए जाने लगे. मजदूरों का कहना है कि पैसे नहीं रहने और होटल के बंद होने के चलते वहां रहना बहुत मुश्किल था.



तीन दिनों से सैकड़ों मजदूर हैं भूखे



कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन लागू है जिससे किराना और दवा दुकानों के अलावे सभी होटल भी बंद है जिससे सभी मजदूर पिछले तीन दिन से भूख से बिलबिला रहे हैं. इनकी परेशानी यहीं खत्म नहीं हो रही है बल्कि झारखंड क्षेत्र में जो बिहार से सटा क्षेत्र हैं वहां स्थानीय लोग भी अपने घरों के सामने बैठने और खड़े होने तक नहीं दे रहे हैं. लोग बंगाल से आये लोगों को कोरोना संवाहक होने का आरोप लगाते हुए पीने चापाकलों से पानी तक नहीं लेने देने की बात कह रहे हैं.

मजदूर किसी तरह घरों तक पहुंचने की कर रहे हैं गुजारिश

बंगाल से आये दिहाड़ी मजदूर पांच ट्रकों से पहुंचे हैं जो सीमावर्ती क्षेत्र में खड़ा है और मजदूर सड़क पर बिलबिला रहे हैं. मजदूरों का कहना है कि जो भी पैसा था वो पैसा ट्रक वाले को दिया. पास में कुछ पैसे हैं बावजूद होटल बंद होने के चलते कुछ खाने को नहीं मिल रहा.

चेकपोस्ट पर पुलिस और दंडाधिकारी नियुक्त

लॉकडाउन को अमल में लाने के लिये अंतरराज्यीय सीमा को सील कर दिया गया है. अधिकारियों का कहना है कि केवल मालवाहक वाहनों, जरूरी सामान ढोने वाले वाहनों के अलावे मरीजों सहित कुछ महत्वपूर्ण कार्य से जाने वालों को जांच परख करने के बाद जाने दिया जा रहा है. फिलहाल बाकी लोगों के प्रवेश पर पाबंदी होने की बात कही जा रही है. इस बाबत भलजोर पोस्ट पर बौंसी पुलिस के साथ दंडाधिकारी रोहित शर्मा की प्रतिनियुक्ति है जो लॉकडाउन को अमल में लाने का कार्य कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- कालाबाजारी पर सख्ती: ग्राहक बन खरीदारी करने पहुंचे SDM, 2 दुकानों को किया सील

ये भी पढ़ें- पैदल कटिहार जा रहे लोगों के लिए फरिश्ता बना थानेदार, सेनेटाइज कर खिलाया खाना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बांका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 5:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading