कटोरिया विधानसभा सीट: ST के लिए आरक्षित सीट पर इस बार क्या होगा चुनावी समीकरण?

ST के लिए आरक्षित सीट पर इस बार क्या होगा चुनावी समीकरण? (सांकेतिक तस्वीर)
ST के लिए आरक्षित सीट पर इस बार क्या होगा चुनावी समीकरण? (सांकेतिक तस्वीर)

कटोरिया के निकटतम जो सबसे बड़े शहर हैं वो कोलकाता (Kolkata) और पटना (Patna) हैं. कटोरिया विधानसभा सीट अनुसूचित जनजाति (SC) के उम्मीदवार के लिए आरक्षित है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 12:30 PM IST
  • Share this:
कटोरिया. बिहार की राजनीति में अहम स्थान रखने वाले कटोरिया विधानसभा सीट (katoria Vidhan sabha) बांका जिले में आती है. कटोरिया में किसी एक पार्टी का दबदबा नहीं रहा है. यहां की जनता ने कांग्रेस (Congress), बीजेपी (BJP) और आरजेडी (RJD) तीनों ही पार्टियों को मौका दिया. 2010 के चुनाव में जहां बीजेपी ने जीत हासिल की थी तो वहीं 2015 के चुनाव में आरजेडी ने बाजी मारी. जहां 2009 में राजनीति में एंट्री करने वालीं स्वीटी सीमा हेम्ब्रम कटोरिया की विधायक हैं. वह आरजेडी की प्रदेश महासचिव रह चुकी हैं.

राजनीतिक इतिहास

कटोरिया में विधानसभा का पहला चुनाव 1957 में हुआ था. अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार के लिए आरक्षित इस सीट पर हुए पहले चुनाव में कांग्रेस के पीरू मांझी को जीत मिली थी. इसके बाद कांग्रेस अगले दो चुनावों में भी विजयी रही. 1962 के चुनाव में कांग्रेस को कटोरिया में हार नसीब होती है और इसके बाद 1990 में ही वह यहां पर वापसी कर पाती है. 1990 में मिली जीत ही कांग्रेस की यहां पर आखिरी जीत थी. कटोरिया में हुए हाल के चुनावों पर नजर डालें तो यहां पर बीजेपी और आरजेडी के बीच मुकाबला होता आया है.



यहां की जनता ने किसी एक पार्टी को लगातार नहीं चुना है. या यू कहें कि कटोरिया में किसी एक पार्टी का दबदबा नहीं रहा है. 2015 के चुनाव में जहां आरजेडी को जीत मिली थी तो वहीं 2010 के चुनाव में बीजेपी ने बाजी मारी थी.
अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित

आपको बता दें कि कटोरिया सीट बांका जिले को बनाने वाले 11 ब्लॉकों में से एक है. यहां 223 गांव और 16 पंचायतें हैं. कटोरिया के निकटतम जो सबसे बड़े शहर हैं वो कोलकाता और पटना हैं. कटोरिया विधानसभा सीट अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार के लिए आरक्षित है.

कटोरिया की जनसंख्या

2011 की जनगणना के अनुसार, कटोरिया की जनसंख्या 371646 है. अनुसूचित जातियों (एससी) और अनुसूचित जनजातियों (एसटी) का अनुपात कुल जनसंख्या से क्रमशः 9.18 और 12.08 है. 2019 की मतदाता सूची के अनुसार, इस निर्वाचन क्षेत्र में 248825 मतदाता हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज