Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    लालू-नीतीश के राज में लोगों का नहीं, नेता और परिवार का विकास हुआ- ओवैसी

    ओवैसी ने बांका सभा में लालू और नीतीश कुमार पर एकसाथ हमला बोला
    ओवैसी ने बांका सभा में लालू और नीतीश कुमार पर एकसाथ हमला बोला

    ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा कि पिछले चुनाव में राजद, कांग्रेस और जदयू ने मिलकर भाजपा को सत्ता में नहीं आने देने का दावा किया था, लेकिन सब फेल हो गए. नीतीश कुमार भाजपा की गोद में बैठकर सत्ता का सुख भोगने लगे.

    • Share this:
    बांका. बिहार में लालू-राबड़ी और नीतीश कुमार का तीन दशक का कार्यकाल काफी लंबा रहा है. अगर कोई काम करने वाला होता, तो इस दौरान राज्य का कायाकल्प कर सकता था. लेकिन इस दौरान अगर किसी का विकास हुआ तो वो सत्ता में सहभागी पार्टी के नेताओं का हुआ. लालू के शासन काल के दौरान उनके परिवार का विकास हुआ, जिसमें उनकी बीवी मुख्यमंत्री बनीं तो बेटा मंत्री और बेटी सांसद. वहीं नीतीश के समय में जदयू और भाजपा के नेताओं का भरपूर विकास हुआ. ये बातें सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने बांका में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहीं.

    असदुद्दीन ओवैसी रालोसपा के प्रत्याशी कौशल सिंह के पक्ष में चुनावी सभा करने बांका पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने नीतीश कुमार के दावे को नकारते हुए कहा कि बिहार शिक्षा, स्वास्थ्य, सहित अन्य बुनियादी मामलों में पिछड़ा राज्य है. विकास का दावा बढ़-चढ़ कर किया जा रहा है. लेकिन राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था की हालत इतनी खराब है कि 28 हजार की आबादी पर मात्र एक डॉक्टर है. स्कूलों में शिक्षकों की भारी कमी है. लॉएंडआर्डर की स्थिति ये है कि आये दिन वारदात होती रहती है, जो पुराने समय की याद दिलाती है.





    उन्होंने कहा कि तीन दशक से सत्ता पर काबिज लोगों ने युवाओं को रोजगर नहीं दिया तो चुनाव में लोगों को बरगलाने के लिये नौकरी का झांसा दे रहे हैं.  केंद्र सरकार के नौकरी के दावे और पन्द्रह लाख की बातें पूरी नहीं हुई.
    कोरोना को लेकर लगाये गये लॉकडाउन पर उन्होंने कहा कि मनमाने ढंग से लॉकडाउन लागू करने से लोगों की परेशानी बढ़ी. केंद्र और राज्य सरकार ने  जनता को अपने भाग्य भरोसे छोड़ दिया था.

    ओवैसी ने कहा कि पिछले चुनाव में राजद, कांग्रेस और जदयू ने मिलकर भाजपा को सत्ता में नहीं आने देने का दावा किया था, लेकिन सब फेल हो गए. नीतीश कुमार भाजपा की गोद में बैठकर सत्ता का सुख भोगने लगे. नीतीश कुमार के शासन में जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिये लोगों को चढ़ावा देने पड़ता था.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज