लाइव टीवी
Elec-widget

60 करोड़ की ज्वेलरी के साथ पकड़े गए लुटेरे, ज्वेलर्स को गोली मारकर लूटा था सोना

Santosh Kumar | News18 Bihar
Updated: November 29, 2019, 4:23 PM IST
60 करोड़ की ज्वेलरी के साथ पकड़े गए लुटेरे, ज्वेलर्स को गोली मारकर लूटा था सोना
बेगूसराय में हुए लूटकांड का खुलासा करते डीआईजी

12 नवंबर को बेगूसराय (Begusarai) के स्वर्ण व्यवसायी प्रिंस सोनी ,अभय कुमार सिंह ,संतोष कुमार अपने ड्राइवर दीपक कुमार के साथ सोना (Gold) लेकर जब वापस आ रहे थे. इसी दौरान अपराधियों ने उन पर हमला (Attack) किया था.

  • Share this:
बेगूसराय. बिहार की बेगूसराय पुलिस (Begusarai Police) को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने काफी जद्दोजहद और 17 दिनों के अंतराल के बाद लूट का तकरीबन 14 किलो 700 ग्राम सोना बरामद किया है. पुलिस ने सोना बरामदगी (Gold Loot Case) के साथ ही चार लुटेरों को भी गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अपराधियों के पास पुलिस ने दो देसी कट्टा, 12 कारतूस 5 मोबाइल एवं घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल को भी बरामद कर लिया है. लूटी गई सोने की कीमत बाजार में लगभग साठ करोड़ बताई जा रही है.

12 नवंबर को हुई थी घटना

अपराधियों ने 12 नवंबर को लूट की इस घटना को अंजाम दिया था. लूट के दौरान एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी वहीं दो स्वर्ण व्यवसायी को घायल कर दिया था. 12 नवंबर 2019 को अहले सुबह अपराधियों ने गरहारा थाना क्षेत्र के ठाकुरीचक में इस बड़ी घटना को अंजाम दिया था. अपराधियों ने कोलकाता से वापस लौट रहे स्वर्ण व्यवसायियों का पीछा कर ये हमला किया था और तकरीबन 14 किलो से अधिक सोना लूटा था.

पुलिस को मिली थी चुनौती

लूट की इस घटना के बाद बिहार पुलिस महकमे में खलबली मच गई थी. व्यवसायियों ने भी लगातार पुलिस के विरोध में प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था. इतना ही नहीं बिहार के डीजीपी सहित बिहार सरकार भी इस घटना में खासी दिलचस्पी दिखाते हुए लगातार बेगूसराय पुलिस पर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए दबाव बना रही थी. लूटकांड के उदभेदन के लिए पुलिस ने स्पेशल टीम बनाई थी.

मोबाइल सर्विलांस एवं वैज्ञानिक उपकरणों के सहारे पहुंची पुलिस

दरअसल इस घटना में सर्वप्रथम कंचन पासवान नामक अपराधी ने लाइनर का काम किया था. 12 नवंबर को बेगूसराय के स्वर्ण व्यवसायी प्रिंस सोनी ,अभय कुमार सिंह ,संतोष कुमार अपने ड्राइवर दीपक कुमार के साथ सोना लेकर जब वापस आ रहे थे. इसी दौरान अपराधियों ने उन पर हमला किया जिससे ड्राइवर दीपक कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. प्रिंस सोनी एवं संतोष सोनी गंभीर रूप से घायल थे.
Loading...

जमीन के अंदर छिपा कर रखा था लूट का माल

पुलिस के अनुसार कंचन पासवान की निशानदेही पर गौरव कुमार ,राजेश कुमार ,शिवम कुमार एवं आकाश कुमार ने इस पूरी घटना को अंजाम दिया था. जब मोबाइल सर्विलांस और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस अपराध की तह तक पहुंची तो राजेश कुमार के घर के राजौड़ा में अपराधियों ने बड़े-बड़े गड्ढे कर कई जगहों पर उक्त सोने को छिपाया था. फिलहाल पुलिस ने सारे सोने को भी बरामद कर लिया है ।

व्यवसायियों ने दी थी गलत जानकारी

रेंज के डीआईजी राजेश कुमार ने बताया कि व्यवसायियों द्वारा गलत जानकारी दी गई थी. 14 किलो 700 ग्राम की जगह मात्र 9 किलो 500 ग्राम सोने की लूट का केस किया गया था. डीआईजी राजेश कुमार ने बताया कि इस मामले की भी जांच की जाएगी और दोषी पाए जाने वाले लोगों पर कार्रवाई होगी. यहां सबसे बड़ा बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि व्यवसायियों के द्वारा भी पुलिस को गफलत में रखा गया और सही जानकारी नहीं दी गई. व्यवसायियों ने लूटी गई 14 किलो 700 ग्राम सोने की जगह एफ आई आर में मात्र 9 किलो 500 ग्राम सोने का जिक्र किया था. पुलिस के अनुसार ऐसा प्रतीत होता है कि सरकारी राशि को छुपाने के लिए व्यवसायियों के द्वारा गलत मामला दर्ज करवाया गया था.

ये भी पढ़ें- तेजस्वी ने पूछा- क्या देशहित में BJP के लिए 100₹ किलो प्याज़ नहीं खा सकते ?

ये भी पढ़ें- वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में 'बैग घोटाला', RTI से हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बेगूसराय से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 4:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com