बिहार चुनाव में बोले असदुद्दीन ओवैसी- अल्पसंख्यक किसी के गुलाम नहीं, उनके वोट को जागीर न समझें

बिहार की चुनावी सभा में असदुद्दीन ओवैसी
बिहार की चुनावी सभा में असदुद्दीन ओवैसी

Bihar Election 2020: बिहार के बेगूसराय में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कांग्रेस (Congress) और राजद (RJD) पर हमला बोलते हुए कहा कि अल्पसंख्यक वोट किसी की जागीर नहीं है. उन्होंने कहा कि अपने कर्मों की वजह से ही लोकसभा के चुनाव में महागठबंधन की करारी हार हुई थी.

  • Share this:
बेगूसराय. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार कर रहे एआईएमआईए के नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने महागठबंधन और एनडीए (NDA) को आड़े हाथों लिया है. ओवैसी ने कांग्रेस और राजद (RJD) पर हमला बोलते हुए  कहा कि अल्पसंख्यक किसी के गुलाम नहीं हैं इसलिए उनके वोट को कोई अपनी जागीर नहीं समझे. उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की हार अपने कर्मों की वजह से भी हुई थी. ओवैसी ने महागठबंधन (Mahagathbandhan) पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह उनके मानसिक दिवालियापन का परिचायक है क्योंकि जब संसदीय चुनाव में ओवैसी द्वारा अपने उम्मीदवार नहीं खड़े किए गए थे तो फिर इनकी हार कैसे और क्यों हुई.

महाराष्ट्र चुनाव के संबंध में बात करते हुए ओवैसी ने कहा कि शिवसेना के साथ कांग्रेस ने जब गठबंधन किया तब उनकी जमीर कहां थी. बिहार में लोकसभा की किशनगंज सीट के संबंध में बात करते हुए मुस्लिम नेता ने कहा कि अगर सिर्फ किशनगंज सीट से ही कांग्रेस की जीत हुई तो यह भी सोचने की बात है. ओवैसी ने एनडीए को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि पिछले 15 सालों में बिहार में कोई विकास नहीं हुआ है. एनडीए पर हमला बोलते हुए ओवैसी ने कहा कि इस बार जनता बिहार के चुनाव में जाति के नाम पर नहीं बल्कि विकास के मुद्दों पर मतदान करने जा रही है और इस बार एनडीए को भी मुंह की खानी पड़ेगी.





राजद पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि अल्पसंख्यक मतदाता किसी के गुलाम नहीं हैं. कोई इन्हें अपनी जागीर नहीं समझे. सोमवार को असदुद्दीन ओवैसी बेगूसराय के साहेबपुर कमाल पहुंचे थे जहां वो अपने उम्मीदवार गोरे लाल यादव के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे. बिहार में ओवैसी की पार्टी इस बार मायावती और उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी के साथ मिलकर चुनावी मैदान में है. बिहार में पहले फेज की वोटिंग कल यानी बुधवार को होनी है जबकि दूसरे और तीसरे फेज की वोटिंग नवंबर की तीन और सात तारीख को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज