बहन की जान का दुश्मन बना सगा भाई, चाकुओं से गोदकर किया घायल

घटना नगर थाना क्षेत्र के टाउनशिप वार्ड नंबर 4 की है. पीड़िता रुबीना खातून ने बताया कि वह घर में सोफे पर बैठी हुई थी इसी दौरान उसका भाई अरशद आया और बगल में बैठ गया. जब तक वह कुछ समझ पाती अरशद ने चाकू से उस पर हमला कर दिया.

News18 Bihar
Updated: July 13, 2019, 4:03 PM IST
बहन की जान का दुश्मन बना सगा भाई, चाकुओं से गोदकर किया घायल
बेगूसराय में एक भाई ने अपनी बहन पर ही चाकू से हमला कर दिया
News18 Bihar
Updated: July 13, 2019, 4:03 PM IST
बिहार के बेगूसराय में एक सनकी भाई ने अपनी बहन पर अचानक जानलेवा हमला कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया. पीड़ित ने अपने भाई पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है जबकि मां ने अपने बेटे को मानसिक रूप से विक्षिप्त करार दिया है. हालांकि पुलिस अलग ही कहानी बता रही है और छानबीन में जुट गई है.

घटना नगर थाना क्षेत्र के टाउनशिप वार्ड नंबर 4 की है. पीड़िता रुबीना खातून ने बताया कि वह घर में सोफे पर बैठी हुई थी इसी दौरान उसका भाई अरशद आया और बगल में बैठ गया. जब तक वह कुछ समझ पाती अरशद ने चाकू से उस पर हमला कर दिया. अरशद की मंशा समझ कर रुबीना खातून ने चिल्लाना शुरू किया. उसकी आवाज सुनकर घर के अन्य लोग दौड़कर आए,  लेकिन तब तक मोहम्मद अरशद ने रुबीना खातून पर कई वार कर दिए थे.



बहन पर सगे भाई के हमला करने के बाद छानबीन में जुटी बेगूसराय पुलिस


रुबीना खातून की माने तो अरशद परिवार के सभी लोगों को ब्लैकमेल करता है तथा जान से मारने की धमकी देता है. वहीं,  मोहम्मद अरशद की मां जारा खातून ने बताया कि मोहम्मद अरशद मानसिक रूप से विक्षिप्त है तथा उसका रांची से इलाज चल रहा है. आज जब रुबीना खातून ने उसे दवाई खाने के लिए कहा इसी बात से आक्रोशित होकर अरशद ने उस पर हमला कर दिया.

नगर थाना क्षेत्र के टाउनशिप वार्ड चार में घटी घटना के बाद पुलिस भी सकते में है. पुलिस के अनुसार मोहम्मद अरशद बाजार से चाकू खरीद कर लाया था और स्वयं ही आत्महत्या करना चाहता था.  लेकिन आज जैसे ही रुबीना खातून ने उसे दवा खाने के लिए कहा, मोहम्मद अरशद ने उस पर जानलेवा हमला कर दिया. फिलहाल पुलिस सारे बिंदुओं पर छानबीन कर रही है.

रिपोर्ट- संतोष कुमार 

ये भी पढ़ें-
Loading...



जलवायु परिवर्तन का स्वास्थ्य पर पड़ रहा बुरा प्रभाव, बचने के लिए लगाने होंगे पेड़- नीतीश कुमार




क्या RJD के साये से बाहर निकल पाएगी कांग्रेस? पढ़ें सियासी समीकरण

 

Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...