Positive India: कोरोना से हुई बहन की मौत तो भाई ने स्कूल को बना दिया कोविड केयर सेंटर

अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट को दिखाते स्कूल संचालक

अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट को दिखाते स्कूल संचालक

Begusarai News: बिहार के बेगूसराय में दून स्कूल के प्रबंधक ने लॉकडाउन के कारण बंद पड़े स्कूल में एक मिनी अस्पताल खोल दिया. आज इस अस्पताल में 30 ऑक्सीजन युक्त बेड लगाए गए हैं.

  • Share this:

बेगूसराय. बिहार के बेगूसराय में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के बीच लोग एक दूसरे की मदद को लगातार आगे आ रहे हैं. ऐसे ही एक शख्स हैं दून स्कूल के प्रबंधक जिन्होंने कोरोना काल में बंद पड़े स्कूल में एक मिनी अस्पताल (Covid Care Center) खोल दिया. आज इस अस्पताल में 30 ऑक्सीजन युक्त बेड लगाए गए हैं. दरअसल स्कूल प्रबंधक पंकज सिंह की बहन की मौत कोरोना की वजह से हो गई थी जिसके बाद पंकज सिंह ने किसी भी मरीज की मौत ऑक्सीजन के अभाव में या पैसे की कमी से ना हो इसको लेकर शहर के हेमरा में अपने दून पब्लिक स्कूल में 30 बेड का एक मिनी अस्पताल खोल दिया.

जिला प्रशासन से मांगा स्वास्थ्य कर्मी

स्कूल प्रबंधक ने जिलाधिकारी को आवेदन देकर इस अस्पताल में स्वास्थ्य कर्मी और चिकित्सक की तैनाती करने की मांग की है. स्कूल प्रबंधक ने बताया कि इस कोरोना महामारी में लोगों की सेवा के लिए और किसी भी मरीज की ऑक्सीजन के अभाव में जान ना जाए इसलिए 30 ऑक्सीजन युक्त बेड तैयार किया गया है. जब उनकी बहन अस्पताल में भर्ती थी तो वो वहां आते-जाते थे तो ऑक्सीजन के अभाव में लोगों को तड़प कर मरते देखा है, इसलिए आगे किसी मरीज की मौत ना हो इसलिए 30 ऑक्सीजन युक्त बेड का अस्पताल बनाया है.

Youtube Video

स्वास्थ्य कर्मी नियुक्त होते ही शुरू हो जाएगा कोरोना मरीजों का इलाज

पंकज सिंह ने बताया कि इंतजार है कि जिला प्रशासन इस अस्पताल में चिकित्सक और स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती करें ताकि गरीब लोगों को निशुल्क इलाज हो सके. पंकज ने इस अस्पताल में ऑक्सीजन खर्च के साथ मरीजों पर होने वाले सभी खर्च स्कूल प्रबंधक ने स्कूल कोष से करने की बात कही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज