लाइव टीवी

गिरिराज सिंह बोले- पाकिस्तान की जीत पर पटाखे जलाने वाले ही कर रहे नागरिकता संशोधन बिल का विरोध

Santosh Kumar | News18 Bihar
Updated: December 16, 2019, 1:44 PM IST
गिरिराज सिंह बोले- पाकिस्तान की जीत पर पटाखे जलाने वाले ही कर रहे नागरिकता संशोधन बिल का विरोध
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह. (फाइल फोटो)

गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने कहा कि पंडित नेहरू (Jawahar Lal Nehru) और लियाकत अली का जो भी कमिटमेंट हुआ वह सिर्फ भारत (India) वर्ष में लागू हुआ लेकिन पाकिस्तान में उन्हें मान्यता नहीं दी गई.

  • Share this:
बेगूसराय. नागरिकता संशोधन बिल (CAA) को लेकर केंद्रीय मंत्री सह बेगूसराय के स्थानीय सांसद गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने एक बार फिर विपक्ष को आड़े हाथों लिया है. सोमवार को गिरिराज सिंह ने कहा कि आज नागरिकता संशोधन बिल का वही लोग विरोध कर रहे हैं जिनका जिनको राम मंदिर (Ayodhya Temple) का रास्ता साफ होने के वक्त विरोध करने की गुंजाइश नहीं मिली, कश्मीर में 370 एवं 35 ए हटने के बाद उनको विरोध करने का जगह नहीं मिला, सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जिनको विरोध में बोलने में नहीं बन रहा था.

दिल्ली से लेकर केरल तक में विरोध करने वाले एक ही

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस बिल से उन्हीं लोगों के पेट में दर्द है और ऐसे ही लोग केरल से लेकर देश के अन्य हिस्सों में लोगों को बरगला रहे हैं और विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. बीजेपी के फायर ब्रांड नेता ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि चाहे वो दिल्ली हो, केरल हो, पटना हो या फिर बेगूसराय हो आज वही लोग सड़कों पर उतर रहे हैं और विरोध कर रहे हैं जो भारत और पाकिस्तान के मैच होने के वक्त पाकिस्तान की जीत के बाद भारत में पटाखे जलाते थे. ये वैसे लोग हैं जो खाते तो भारत के हैं लेकिन पटाखे पाकिस्तान के लिए चलाते हैं.

राहुल कोदी नसीहत

राहुल गांधी समेत पूरे विपक्ष एवं कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि ये कोई पहली बार नहीं है जब नागरिकता संशोधन बिल को सदन में लाया गया बल्कि यह चौथी बार है जब नागरिकता संशोधन बिल सदन में पेश किया गया लेकिन पूर्व की सरकारों में हिम्मत की कमी की वजह से यह बिल पास नहीं हो सका और आज नरेंद्र मोदी की सरकार ने यह काम कर दिखाया.

नेहरू-लियाकत समझौते का दिया हवाला

प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के संबंध में गिरिराज सिंह ने कहा कि पंडित नेहरू और लियाकत अली का जो भी कमिटमेंट हुआ वह सिर्फ भारत वर्ष में लागू हुआ लेकिन पाकिस्तान में उन्हें मान्यता नहीं दी गई. आज आलम यह है कि पाकिस्तान में मंदिरों को तोड़ा जा रहा है और हिंदुस्तान में लाखों मस्जिद बनाए गए. आज पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की बहू-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं.पाकिस्तान में घट रहे अल्पसंख्यक

पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की संख्या महज 2.8 फ़ीसदी रह गई जबकि भारत में अल्पसंख्यकों की आबादी 28 करोड़ से भी अधिक हो गई. गिरिराज सिंह ने विपक्ष पर भड़ास निकालते हुए कहा कि आज जो तथाकथित लोगों के द्वारा भारत को टुकड़े-टुकड़े करने की कोशिश की जा रही है. उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा और समय रहते उन्हें कुचल दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- शस्त्र पूजन के बाद BJP विधायक ने दागी गोलियां, वीडियो वायरल

ये भी पढ़ें- अयोध्या राम मंदिर: बिहार के हर घर से भी एक ईंट और 11 रुपए ले जाएंगे कारसेवक 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बेगूसराय से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 16, 2019, 1:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर