लाइव टीवी
Elec-widget

कन्हैया को लेकर बोले गिरिराज सिंह, भारत तोड़ने वालों से है लड़ाईः पढ़ें खास इंटरव्यू

News18 Bihar
Updated: April 4, 2019, 2:05 PM IST
कन्हैया को लेकर बोले गिरिराज सिंह, भारत तोड़ने वालों से है लड़ाईः पढ़ें खास इंटरव्यू
गिरिराज सिंह (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि राहुल गांधी 3 बार अमेठी से सांसद रह चुके हैं. आज उन्हें स्मृति ईरानी ने एहसास करा दिया है, काम नहीं तो वोट नहीं.

  • Share this:
बिहार के बेगुसराय लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि उनकी लड़ाई विकृत मानसिकता के खिलाफ है. उन्होंने कहा कि जो हमारे शौर्य के खिलाफ विचारधारा है, उसके खिलाफ मेरी लड़ाई है. गिरिराज सिंह से News18 ने खास बातचीत की. इस दौरान गिरिराज सिंह ने सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार और कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला. आगे पढ़िए गिरिराज सिंह का पूरा इंटरव्यू....

सवाल- गिरिराज जी जब जेएनयू का मामला हुआ था, तब आप काफी मुखर रहे थे. कभी सोचा था कि जिससे जेएनयू मामले में भिड़े थे, चुनावी सफर में उससे मुकाबला करना पड़ेगा.
जवाब- राजनीति में इसका कुछ पता नहीं होता. राजनीति अपनी गति से चलती है. परिस्थिति बनती हैं.

सवाल- कन्हैया का कहना है कि आप यहां के लिए बाहरी हैं और वो यहां का बेटा है. इसलिए जनता उसे चुनेगी और 5 साल में आपने लोगों को वीजा देने के अलावा कुछ नहीं किया.

जवाब- यहां हमारी लड़ाई विचारधारा से है. वो विचारधारा है विकृत, जो हमारे शौर्य के खिलाफ विचारधारा है, उसके खिलाफ लड़ाई है. अलगाववादी के पक्ष में , आतंकवादियो के साथ खड़े होने वालों से लड़ाई है. भारत को तोड़ने वालों के खिलाफ. क्या भारत को फिर से 2 पीएम दिए जाएंगे, उनसे लड़ाई है. लड़ाई है उसका समर्थन करने वालो से. देश खंडित होगा कि विखंडित होगा इसके बीच लड़ाई है. लड़ाई इन सभी विचारधारा से है.

सवाल- जेएनयू मामले में कन्हैया मुखर रूप से सामने आया था. आपने उस मामले में कड़ा रुख अपनाया था. आपको लगता है कि यहां की जनता उस सवाल को खत्म कर देगी.
जवाब- मैं क्या बोलूं. आप बेगुसराय की जनता से पूछिए. यहां रक्तरंजित हुआ. ये श्री बाबू की कर्मभूमि है. यहा विकास को ध्वस्त करने वालों के खिलाफ लड़ाई है.
Loading...

सवाल- राहुल गांधी आज वायनाड से अपना नामांकन भर रहे हैं.
जवाब- राहुल गांधी 3 बार सांसद रह चुके हैं. आज उन्हें स्मृति ईरानी ने एहसास करा दिया है. काम नहीं तो वोट नहीं. अब उनको भय सता गया है. पूरे देश मे नेता बनने चले है और 3 बार की सीट पर भरोसा ना हो. तो वो अपनी सीट छोड़कर, हार मान गए मोदी से. ये मैदान हार गए राहुल गांधी. अब छुपने के लिए वहां गए हैं, जहां कोई उन्हें देख ना पाए.

सवाल- लेकिन उनका तो कहना है कि उत्तर और दक्षिण दोनों की दूरी मिटाने के लिए गए हैं.
जवाब- बढ़िया है. उत्तर-पूरब-पश्चिम सब जगह लड़ें. दस-बीस सीट लड़ लें. कहीं से भगवान जुगाड़ लगा दे और वो सांसद बन जाएं. अरे ये लोग 70 साल से देश को चूसने का काम किया और अमेठी को खानदानी सीट बना दिया. जैसे जमींदारी हो. जनता जाग गए, राहुल गांधी भाग गए.

सवाल- कांग्रेस के मेनिफेस्टो को लेकर भी विवाद हो रहा है. राजद्रोह की धारा हटाने की बात हो रही है. उनका कहना है इसका गलत उपयोग होता है.
जवाब- ये साफ हो गया ये 'टुकड़े-टुकड़े' गैंग राहुल गांधी हैं. राहुल गांधी 'टुकड़े टुकड़े' गैंग छद्म धर्मनिर्पेक्षता की राजनीति करते हैं. यह गैंग हमारी सेना को गाली देता है. क्या नहीं कहा, गुंडा कहा,  सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक का सबूत मांगा. पथरबाजों के लिए हमदर्दी और सेना के खिलाफ आतंकवाद को फलता फूलता देखना चाहते हैं, ये राष्ट्रद्रोही के साथ खड़े हैं. देश कभी उनको समर्थन नहीं देगा. इनके दादा- नाना के कारण कश्मीर की समस्या बनी. इनके कारण 10 साल आतंकवाद पूरे देश में फैला. धमाके हुए. लेकिन मोदी जी ने 5 साल में उसको समेत कर कश्मीर तक सीमित कर दिया. अब देशद्रोही पर मुफ़्ती के साथ ये खड़े हैं. जब तक भारत मे राष्ट्रवादी नौजवान खड़ा है, कुछ नहीं होगा.

सवाल- कश्मीर में बातचीत की बात भी कही है.
जवाब- राहुल गांधी कश्मीर में बातचीत करने जाएं. शारद यादव की अगुवाई में विपक्ष गया था. अलगाववादी बात नहीं कर रहे थे. अब पीएम ने उन्हें सिखाना शुरू किया है. 5 साल और रुक जाइये, कश्मीर में फिर से वही पुराना कश्मीर होगा. ये वोट के सौदागरों ने कश्मीर में आतंकवाद का जखीरा खड़ा कर दिया. चाहे वो कांग्रेस हो या वोटों की राजनीति करने वाले..

ये भी पढ़ें-

तेजस्वी यादव ने कार्यकर्ताओं में जोश भरने को किया भोजपुरी में ट्वीट, 'करे के बा - लड़े के बा - जीते के बा'

सुर्खियां: मेवा की इच्छा वालों से सतर्क रहें, जो भाजपा से मिल जाए वह हरिश्चंद्र

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बेगूसराय से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2019, 11:39 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...