गिरिराज ने रावलपिंडी से की वायनाड की तुलना, EC से की यह मांग

गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह

गिरिराज सिंह ने कहा कि झंडे की आकृति के बारे में मैं नहीं जानता कि इसकी लंबाई-चौड़ाई क्या है, लेकिन उसे हजारों की संख्या में देखने पर पाकिस्तान सरीखा लगता है.

  • Share this:
बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और बेगूसराय सीट से बीजेपी के प्रत्याशी गिरिराज सिंह ने निर्वाचन आयोग से एक खास तरह के हरे झंडे पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है. बुधवार (24 अप्रैल) को गिरिराज ने बिहार के बेगूसराय में राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी जी पाकिस्तान के एजेंडे के साथ हैं.



पहले उन्होंने पाकिस्तान में सिद्धू को भेजा जिन्होंने बाजवा से गले मिलने के बाद इमरान खान की तारीफ की. गिरिराज ने कहा कि राहुल गांधी ने ये मान लिया है कि वो मानसिक रूप से अमेठी हार गए हैं. वह केरल गए इससे हमें कोई दिक्कत नहीं है. उनके नामांकन में वहां मुस्लिम लीग का झंडा दिखा न कि कांग्रेस का. इस कार्यक्रम को देख एक धारणा बनी कि यह केरल में नहीं, बल्कि शायद पाकिस्तान के रावलपिंडी में नामांकन हो रहा हो.



ये भी पढ़ें- सीवान में दांव पर बाहुबली शहाबुद्दीन की साख, पिता की गैरमौजूदगी में मां के सारथी बने ओसामा





गिरिराज सिंह उन्होंने कहा कि झंडे की आकृति के बारे में मैं नहीं जानता कि इसकी लंबाई-चौड़ाई क्या है, लेकिन हजारों की संख्या में वो झंडा देखने से पाकिस्तान सरीखा लगता है. उन्होंने कहा कि हरे झंडे के साथ पाकिस्तान के झंडे की जो आकृति है मुझे उस पर आपत्ति है. मेरी मांग है कि राजनैतिक दलों की रैली और कार्यक्रमों में इस आकृति के झंडों पर रोक लगनी चाहिए.
ये भी पढ़ें- कांग्रेस के 'शत्रु' का बीजेपी प्रेम, बोले- पार्टी ने मुझे जितना स्नेह-सम्मान दिया, मैं कभी नहीं भूल सकता



मालूम हो कि गिरिराज बिहार की बेगूसराय सीट से बीजेपी के उम्मीदवार हैं. उनका मुकाबला यहां कन्हैया कुमार से है. इससे पहले रविवार को कन्हैया समर्थकों द्वारा गढ़पुरा प्रखंड के कोरेय गांव में काला झंडा दिखा रहे ग्रामीणों की पिटाई पर गिरिराज सिंह ने सीधे शब्दों में कहा कि कन्हैया किस पर आरोप लगा रहे हैं, यह वो ही जाने, लेकिन लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी सबसे बड़ी आजादी है. फर्क सिर्फ इतना है कि कुछ लोग इसे सकारात्मक ढंग से लेते हैं तो कुछ लोग नकारात्मक ढंग से. रविवार को जो घटना घटी लोकतंत्र उस घटना को कभी स्वीकार नहीं करेगा.






अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज