Begusarai News: रंगदारी नहीं मिली तो युवक पर दिनदहाड़े बरसाईं गोलियां, हालत नाजुक

बिहार के बेगूसराय में युवक को मारी गोली (तमंचा लिए आरोपी की तस्वीर)

बिहार के बेगूसराय में युवक को मारी गोली (तमंचा लिए आरोपी की तस्वीर)

Begusarai News: बिहार के बेगूसराय में हुई गोलीबारी की इस घटना के बाद जख्मी युवक ने फोन पर अपने परिवार के लोगों को इसकी जानकारी दी. फिलहाल युवक की हालत चिंताजनक बनी हुई है.

  • Share this:
बेगूसराय. बिहार के बेगूसराय (Begusarai) में एक बार फिर से बेखौफ अपराधियों ने दिनदहाड़े ट्रैक्टर ड्राइवर को गोली मारकर (Firing) घायल कर दिया. घटना मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पसपूरा ढाला की है. घायल की पहचान मटिहानी थाना क्षेत्र के रामदिरी निवासी तुलसी सिंह के पुत्र चंदन कुमार के रूप में की गई है. उक्त मामले में परिजनों ने गांव के ही बदमाशों पर रंगदारी नहीं देने के कारण जानलेवा हमला का आरोप लगाया है. फिलहाल एक तरफ घायल का गंभीर हालत में निजी नर्सिंग होम में इलाज चल रहा है तो वहीं पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

इस मामले में पीड़ित चंदन कुमार की पत्नी ने आरोप लगाया है कि गांव के ही गुलशन और सौरव के द्वारा दो दिन पूर्व उसके पति चंदन से 5000 रुपये रंगदारी की मांग की गई थी जिसे चंदन ने अस्वीकार कर दिया था लेकिन इन अपराधियों के द्वारा लगातार रंगदारी टैक्स देने के लिए दबाव बनाया जा रहा था. रविवार को जिस वक्त अपनी ट्रैक्टर को लेकर चंदन बाहर निकला उसी वक्त अपराधियों के द्वारा उससे दोबारा रंगदारी की मांग की गई लेकिन चंदन ने पैसा देने से इंकार कर दिया और अपनी ट्रैक्टर को लेकर बाहर चला गया. इसके बाद अपराधियों के द्वारा पीछा करके पसपूरा ढाला के समीप इस घटना को अंजाम दिया गया और अपराधी हथियार लहराते फरार हो गए.

पीड़ित ने मोबाइल से परिजनों को दी सूचना

तीन गोली लगने के बाद चंदन ट्रैक्टर से गिर गए और खेत की ओर लुढ़कते चले गए लेकिन चंदन ने साहस का परिचय देते हुए अपने मोबाइल से परिजनों को घटना की जानकारी दी. घटना की सूचना मिलने के बाद परिजन दौड़े-दौड़े घटनास्थल पर पहुंचे और चंदन को इलाज के लिए भर्ती करवाया गया. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है.
अपराध के आंकड़े खोल रहे पुलिस की नाकामी के पोल

देखा जाए तो वर्ष 2021 में अब तक अपराधियों ने जिले में 15 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी है तो वहीं 9 लोगों को जख्मी कर दिया है. मुख्यालय डीएसपी निशीत प्रिया ने दावा जरूर किया कि सभी मामलों में का उद्भेदन कर लिया गया है लेकिन जमीनी हकीकत बता रही है कि कुछ मामलों को छोड़ दिया जाए तो अधिकांश मामलों में पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं और अपराधी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज