Bihar News: बेटे का मुंडन कराने आए पिता की गोली मारकर हत्या, कल ही होनी थी भाई की शादी

बिहार के बेगूसराय में हुई हत्या की घटना के बाद मामले की जांच के लिए पहुंची पुलिस

बिहार के बेगूसराय में हुई हत्या की घटना के बाद मामले की जांच के लिए पहुंची पुलिस

Begusarai News: बिहार के बेगूसराय में हुई हत्या की इस घटना के बाद मृतक के घर में कोहराम मचा है. लुटेरों ने लूट का विरोध करने पर अहले सुबह ही इस घटना को अंजाम दिया.

  • Share this:
बेगूसराय. बिहार के बेगूसराय (Begusarai) में एक बार फिर बेखौफ अपराधियों का तांडव दिखा है. यहां लूटपाट (Loot Incident) का विरोध करने पर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई. मृतक की पहचान समस्तीपुर जिले के हसनपुर मल्हीपुर निवासी रमेश चौधरी के रूप में की गई है. घटना सदर अनुमंडल क्षेत्र के चकिया थाना स्थिति सिमरिया गंगा घाट की है. रमेश अपने पुत्र का मुंडन संस्कार कराने आए थे. बताया जा रहा है कि कल यानी 3 मई को रमेश चौधरी के छोटे भाई रूपेश चौधरी की शादी होनी थी, लेकिन उससे पहले रमेश चौधरी के पुत्र का मुंडन संस्कार सिमरिया गंगा घाट पर निश्चित हुआ था.

इसको लेकर रमेश चौधरी अपनी मां सीता देवी, पत्नी एवं गांव के लोगों के साथ रिजर्व ऑटो से अपने घर समस्तीपुर के हसनपुर मल्हीपुर से सिमरिया गंगा घाट पहुंचे थे. रात को ही पूरा परिवार सिमरिया गंगा घाट पहुंच गया था. हालांकि, स्थानीय पुलिस द्वारा गंगा घाट पर नहीं रुकने की हिदायत दी गई थी, लेकिन परिवार ने घाट पर ही अवस्थित एक अस्थाई होटल में ठिकाना ले रखा था. तड़के सुबह तकरीबन 3 बजे दो अपराधियों ने रमेश चौधरी की मां सीता देवी का सोने की चेन एवं झुमका छीन लिया और मौके से फरार होने लगे.

इस दौरान सीता देवी के चिल्लाने पर रमेश चौधरी ने लूटपाट का विरोध किया तो अपराधियों के साथ उनकी तू-तू मैं-मैं होने लगी. इसी क्रम में अपराधियों ने रमेश चौधरी को गोली मार दी. घटना के बाद परिजनों ने रिजर्व ऑटो के चालक को भी खोजना प्रारंभ किया जिससे कि रमेश चौधरी को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया जा सके, लेकिन मौके से ऑटो चालक भी ऑटो सहित फरार था. परिजनों का आरोप है कि अपराधियों से ऑटो चालक की भी मिलीभगत हो सकती है. फिलहाल एक तरफ जहां पूरे परिवार की खुशी मातमी माहौल में बदल गई है तो वहीं पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है तथा आगे की छानबीन में जुट गई है.

ऐसा नहीं है कि सिमरिया गंगा घाट पर लूटपाट की यह कोई पहली घटना हो. इससे पूर्व भी अपराधियों ने ऐसी घटनाओं को अंजाम दिया है, लेकिन पुलिस के द्वारा गंगा घाट पर अपराध नियंत्रण के लिए कोई समुचित व्यवस्था नहीं की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज