लाइव टीवी

बिहार के इस जिले में हर दूसरे दिन होता है मर्डर, एक महीने में 21 लोगों की गई जान

Amrendra Kumar | News18 Bihar
Updated: November 7, 2019, 2:47 PM IST
बिहार के इस जिले में हर दूसरे दिन होता है मर्डर, एक महीने में 21 लोगों की गई जान
हत्या की हुई इन अधिकांश वारदातों में पुलिस के हाथ खाली हैं (फाइल फोटो)

बेगूसराय जिला केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का संसदीय क्षेत्र है. इस इलाके में होने वाली हत्या की अधिकांश घटनाओं में पुलिस के हाथ अभी भी खाली हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार में अपराध की घटनाओं में इन दिनों खासा इजाफा हुआ है. राजधानी पटना (Patna), गया (Gaya) , जमुई समेत विभिन्न जिलों में हत्या (Murder) की घटनाएं लगातार हो रही हैं लेकिन इस सूचि में जो स्थान टॉप पर है वो है बेगूसराय (Begusarai). बिहार के उर्वरक शहर यानी फर्टिलाइजर सिटी के नाम से जाने जाने वाले इस शहर और जिले की पहचान अब क्राइम कैपिटल (Crime Capital) के तौर पर होने लगी है. बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और मोदी सरकार में मंत्री गिरिराज सिंह के संसदीय क्षेत्र में इन दिनों एक-दो नहीं बल्कि तीन-तीन लोगों की हत्या की जा रही है.

गिरिराज सिंह का इलाका है बेगूसराय

हाल के दिनों में बेगूसराय ट्रिपल मर्डर की दो घटनाओं का साक्षी बना है. हाल के दिनों में अपराध की वारदातों की बात करें तो एक महीने में इस जिले में 21 लोगों की हत्या हो चुकी है यानी औसतन हर दूसरे दिन एक शख्स यहां किसी न किसी की गोली का शिकार होता है. बिहार के इस जिले का प्रतिनिधित्व केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह करते हैं लेकिन लॉ एंड ऑर्डर की बात को लेकर वो भी पहले ही हथियार डाल चुके हैं. बेगूसराय में अक्टूबर माह और नवंबर के पहले सप्ताह की बात करें तो अब तक कुल 21 लोगों को मौत की नींद सुला दी गई है. इन घटनाओं में सबसे ज्यादा किस्से जमीनी विवाद के हैं. जिले में दो ट्रिपल मर्डर और एक डबल मर्डर भी शामिल है.

कब-कब हुई हत्या की वारदातें

10 अक्टूबर को लाखो थाना क्षेत्र के बाजितपुर में 5 वर्षीय बच्ची की गला दबाकर हत्या कर दी गई तो 14 अक्टूबर को जमीनी विवाद में मां-पुत्र की हथौड़े से पीटकर हत्या कर दी गई. इस घटना में मुकेश सिंह एवं आंगनवाड़ी सेविका उषा देवी की मौके पर मौत हो गई. 27 अक्टूबर को दिवाली की रात सिंघौल थाना क्षेत्र के मचहा गांव में कुणाल सिंह, कुणाल सिंह की पत्नी कंचन देवी एवं बेटी सोनम कुमारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. हत्या की इस घटना को भी आरोपी भाई ने जमीनी विवाद में अंजाम दिया था. नवंबर के महीने में भी हत्या की वारदातें जारी हैं. 5 नवंबर को बछवाड़ा थाना क्षेत्र के चमथा गोप टोल में जमीनी विवाद में एक पक्ष के नागेंद्र राय तथा अमरजीत राय की गोली मारकर हत्या कर दी गई तो दूसरे पक्ष के शांति देवी की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई .

जमीनी विवाद बन रहा कारण

बेगूसराय में हुई हत्या की इन 21 वारदातों की पड़ताल करें तो इसमें अधिकांश किस्से जमीनी विवाद से ही जुड़े हैं. दिवाली की रात हुई ट्रिपल मर्डर और पांच नवंबर को हुई तीन लोगों की हत्या के पीछे की वजह भी जमीनी विवाद ही रही है. खास बात ये है कि हत्या के इन अधिकांश मामलों में पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं. अपराधियों की गोली से जहां 21 लोगों की मौत हुई है वहीं कई लोग अभी भी अस्पताल में इलाजरत हैं.
Loading...

इनपुट- संतोष कुमार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 2:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...