बेगुसराय में होटल संचालकों ने मजदूरी मांग रहे शख्स को जमकर पीटा, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया विरोध-प्रदर्शन
Begusarai News in Hindi

बेगुसराय में होटल संचालकों ने मजदूरी मांग रहे शख्स को जमकर पीटा, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया विरोध-प्रदर्शन
आक्रोशित ग्रामीणों ने किया विरोध-प्रदर्शन

रिपोर्ट के मुताबिक होटल संचालक द्वारा जबरन एक शख्स से काम करवाया जा रहा था और मजदूरी भी नहीं दी जा रही थी. मजदूरी की मांग करने पर होटल संचालकों ने मजदूर की जमकर पिटाई कर दी. इस अत्याचार के विरोध में ग्रामीणों ने सड़क जाम कर जमकर हंगामा किया.

  • Share this:
बेगूसराय. जनपद में एक मजदूर ने प्रशासन से न्याय (Justice) की गुहार लगाई है. मजदूर का आरोप है कि होटल संचालक उसके साथ बंधुआ मजदूर जैसा बर्ताव करते हैं. मजदूरी मांगने पर उसकी पिटाई की जाती है. मजदूर ने जब पुलिस (Police) से शिकायत की तो होटल मालिक ने उसकी फिर से जमकर पिटाई की और गांव छोड़ देने को कहा, जिसके विरोध में आज ग्रामीणों ने सड़क जाम करके विरोध-प्रदर्शन (villagers protest) किया.

पुलिस से शिकायत की तो फिर से की गई पिटाई
ये मामला गिरिराज सिंह के संसदीय क्षेत्र बेगूसराय का है. रिपोर्ट के मुताबिक होटल संचालक द्वारा जबरन एक शख्स से काम करवाया जा रहा था और मजदूरी भी नहीं दी जा रही थी. मजदूरी की मांग करने पर होटल संचालकों ने मजदूर की जमकर पिटाई कर दी. मजदूर ने जब स्थानीय थाने में आरोपियों के विरुद्ध शिकायत की गई तो होटल संचालकों ने मजदूर की फिर से पिटाई कर दी. मामला फुलवरिया थाना क्षेत्र के मालती गांव की है. इस अत्याचार के विरोध में ग्रामीणों ने सड़क जाम कर जमकर हंगामा किया. स्थानीय बुद्धिजीवी एवं वरिष्ठ पदाधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद किसी तरह ग्रामीणों को समझा-बुझा कर जाम को खुलवाया गया. फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

दरअसल फुलवरिया थाना क्षेत्र के मालती गांव निवासी मजदूर मंटून साह गांव के ही प्रभाकर कुमार, अमर कुमार और निशांत कुमार के होटल पर काम करता था. मंटून साह का आरोप है कि होटल मालिक के द्वारा जबरन काम करवाया जाता है और मजदूरी भी नहीं दी जाती है, इसलिए उसने काम करने से मना कर दिया. इसी से नाराज होकर होटल मालिक प्रभाकर कुमार ने उसके साथ मारपीट की और काम नहीं करने पर गांव छोड़ने की धमकी दी, जिसके बाद पीड़ित ने फुलवरिया थाने में मामला दर्ज कराया. मामला दर्ज होने के बाद पीड़ित को फिर से होटल मालिकों ने मारपीट कर गांव छोड़ने के लिए कहा. इस घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए और सड़क जाम कर हंगामा किया जिसके बाद एसपी के आदेश पर तेघरा डीएसपी और कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची मामले को शांत कराया. एसपी अवकाश कुमार के मुताबिक मामला संज्ञान में आया है, तेघड़ा डीएसपी को पूरे मामले की जांच के लिए भेजा गया. अगर बंधुआ मजदूरी की शिकायत सही मिलती है तो आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.
ये भी पढ़ें- CM शिवराज का Audio Viral, अब कमलनाथ बीजेपी पर हुए हमलावर...


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज