बिहार: हैवानियत की हद! घर में बंद कर पत्नी, सास व बच्चों को किया आग के हवाले, दो लोगों की मौत

बेगूसराय में हत्या की खौफनाक वारदात से दहशत.

बेगूसराय में हत्या की खौफनाक वारदात से दहशत.

जांच पदाधिकारी मोहम्मद मेराज ने बताया कि मौका-ए-वारदात से आरोपी की साइकिल एवं चप्पल बरामद की गई है. इस मामले में जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी और यथाशीघ्र सजा दिलाए जाने का प्रयास किया जाएगा.

  • Share this:

बेगूसराय. कोई ऐसा सोच भी नहीं सकता कि एक शख्स इतना क्रूर हो जाएगा कि वह अपने ही पत्नी एवं बच्चों के साथ-साथ पूरे परिवार को जलाकर मारने का प्रयास करेगा. लेकिन, ऐसा मामला बेगूसराय जिला के गरहारा में सामने आया है. दरअसल आग से पूरे परिवार के झुलसने वाले मामले में नया मोड़ तब आ गया जब स्थानीय लोगों के साथ-साथ पुलिस ने भी यह बताया कि मामला आपसी रंजिश का था. बताया जा रहा है कि मोहम्मद मुख्तार नामक शख्स ने अपने ससुराल में पूरे परिवार को कमरे में बंद कर दिया तथा आग लगा दी जिससे मोहम्मद मुख्तार के सास एवं उसकी पुत्री की मौत हो गई थी. वहीं, पत्नी समेत तीन अन्य लोग अभी भी जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं. पूरा मामला गरहारा थाना क्षेत्र के गरहारा वार्ड 11 का है. फिलहाल घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मोहम्मद मुख्तार मौके से फरार है और पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

बताया जा रहा है कि गड़हारा वार्ड 11 निवासी मोहम्मद मुख्तार की शादी स्थानीय महिला हलीमा खातून से हुई थी. शादी के बाद मोहम्मद मुख्तार एवं हलीमा खातून को चार पुत्री पैदा हुई. लेकिन, धीरे-धीरे दोनों में आपसी रिश्ता कायम न रह सका और मामला तलाक तक पहुंच गया. 4 वर्ष पूर्व हलीमा खातून एवं मोहम्मद मुख्तार के बीच तलाक हो गया था. तलाक के बाद हलीमा खातून अपने मायके में अपने बच्चों को लेकर अपनी मां सलीमा खातून के साथ रहती थी.  इस दौरान मोहम्मद मुख्तार के द्वारा लगातार इन लोगों को जान से मारने की धमकी दी जाती थी, लेकिन तलाक हो जाने की वजह से मोहम्मद मुख्तार की बातों को हलीमा खातून ने कभी तरजीह नहीं दी और ना ही उसकी धमकी से डरी.

जब सब लोग घर में सो रहे थे तभी घटना को दिया गया अंजाम

बीती रात तकरीबन 3:00 बजे सुबह में मोहम्मद मुख्तार अपने ससुराल पहुंचा और घर में जब सब लोग सो रहे थे तब बाहर से उसने जंजीर लगा दिया. दरवाजे पर बहुत सारी ईंट रखकर और मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दी. जब तक पड़ोसी कुछ समझ पाते तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया था और पूरे परिवार को अपनी चपेट में ले लिया. आनन-फानन में स्थानीय लोगों के द्वारा दरवाजे को तोड़ा गया और सभी घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां आरोपी मोहम्मद मुख्तार की सास सलीमा खातून की आज सुबह ही मौत हो गई. वहीं, मोहम्मद मुख्तार के पुत्री आसमा खातून की इलाज के क्रम में आज दोपहर मौत हो गई. अभी भी मोहम्मद मुख्तार की पत्नी हलीमा खातून समेत तीन अन्य लोग जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं.
पुलिस ने कहा आरोपी की जल्द होगी गिरफ्तारी

उक्त मामले में पुलिस ने बताया कि परिवार एवं ग्रामीणों के द्वारा आरोप लगाने के बाद पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है. जांच पदाधिकारी मोहम्मद मेराज ने बताया कि प्रथम दृष्टया मोहम्मद मुख्तार के द्वारा ही घटना को अंजाम देने की बात सामने आ रही है क्योंकि मौका-ए-वारदात से मोहम्मद मुख्तार की साइकिल एवं चप्पल भी बरामद की गई है. इस मामले में जल्द ही आरोपी की गिरफ्तारी की जाएगी और जल्द से जल्द सजा दिलाए जाने का प्रयास किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज