होम /न्यूज /बिहार /Begusarai: पहले प्रयास में ही UPSC पास करने वाले आईएएस ने अपने जिले के बच्चों को दी ये सीख

Begusarai: पहले प्रयास में ही UPSC पास करने वाले आईएएस ने अपने जिले के बच्चों को दी ये सीख

IAS Ravindra Kumar: अपने गृह जनपद पहुंचे आईएएस अधिकारी रविंद्र कुमार ने जिले के डीएम रौशन कुशवाहा के साथ मिलकर बेगूसराय ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्टः नीरज कुमार

    बेगूसरायः बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षा का हाल किसी से छिपा नहीं है. अक्सर पढ़ाई में कमजोर छात्रों की पैरेंट्स को शिकायतें रहती हैं. छात्रों को सही गाइडेंस नहीं मिल पाता है. जिसके चलते वह तय नहीं कर पाते हैं कि उन्हें क्या बनना है. ऐसे में छात्रों को डांट का भी सामना करना पड़ता है. इसी हालात को बेहतर करने के लिए बेगूसराय के करगिल भवन में नवोदय विद्यालय सहित कई सरकारी विद्यालयों के हाईस्कूल समकक्ष के छात्रों को बुलाया गया. इस दौरान छात्रों ने आईएएस रविन्द्र कुमार ने छात्र-छात्राओं को मोटिवेट किया. इस दौरान उनके साथ जिले के डीएम रौशन  कुशवाह भी मौजूद रहे.

    दो बार एवरेस्ट फतह किया

    मध्यप्रदेश के झांसी में कार्यरत डीएम रविन्द्र कुमार अपनी कॉफी टेबल बुक ‘माउंट एवरेस्ट एक्सपीरियंस द जर्नी‘ को लेकर चर्चा में रहते हैं. उन्होंने अपने गृह जिले में बच्चों को पुस्तक भी गिफ्ट की. बच्चों ने कहा कि इस पुस्तक को पढ़कर आईएएस बनने के लिए प्रेरणा मिलेगी.

    बता दें कि डीएम रविन्द्र कुमार नेपाल (दक्षिण की ओर) और तिब्बत (उत्तर की ओर) के दो अलग-अलग मार्गों से माउंट एवरेस्ट फतेह करने वाले देश के एक मात्र आईएएस अफसर हैं. वह जिले के चेरिया बरियारपुर प्रखंड के बसही पंचायत के रहने वाले हैं. उन्होंने इंटर तक की पढ़ाई नवोदय विद्यालय से की. उसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए जिले से बाहर गए. आईएएस रविंद्र कुमार ने बताया कि हम लोग मिडिल क्लास के लोग हैं. जिनको इकोनामिक और गाइडेंस की दिक्कत होती है, लेकिन सही मोटिवेशन नहीं मिलना एक बड़ी समस्या बनकर सामने आ रही है.

    सिक्किम में सर्च ऑपरेशन के दौरान मिली थी प्रेरणा

    ज्ञान भारती बेगूसराय में पढ़ने वाले छात्र प्रणब कुमार ने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रविंद्र कुमार से सवाल पूछा कि उन्हें एवरेस्ट पर चढ़ने की प्रेरणा कहां से मिली. जिसके जवाब में उन्होंने बताया कि वह जब सिक्किम में थे, तो पर्वतारोहियों को सर्च ऑपरेशन के लिए बुलाया गया था. इस दौरान लगा कि कहीं भूकंप आ जाए और सड़क टूट जाए तो ऐसी परिस्थिति में खुद की रक्षा कैसे करें और लोगों की भी मदद कैसे करें. पहली प्रेरणा यही थी. उसके बाद 2015 और 2019 में वह एवरेस्ट चढ़े.

    सफलता नहीं मिलने पर दूसरों पर न मढ़ें आरोप

    बेगूसराय जिले के रचियाही उच्च माध्यमिक विद्यालय की छात्रा मुस्कान कुमारी ने आईएएस रविंद्र कुमार से पूछा कि क्या आपने यूपीएससी प्रथम प्रयास में ही पास किया. इस पर उन्होंने बताया कि यूपीएससी का सारा एग्जाम पहले अटेम्प्ट में क्रैक किया था. उन्होंने कहा कि जब आप सक्सेसफुल नहीं होते हो तो, दूसरे पर आरोप नहीं मढ़ना चाहिए. अपनी कमियों को दूर करने का प्रयास करना चाहिए.

    Tags: Begusarai news, Bihar News in hindi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें