भूख-प्यास को भूल कोरोना मरीजों की जान बचा रहे मजदूर, चौबीसों घंटे कर रहे ऑक्सीजन की रिफिलिंग

बिहार के बेगूसराय में ऑक्सीजन सिलिंडर की रिफलिंग करता मजदूर

बिहार के बेगूसराय में ऑक्सीजन सिलिंडर की रिफलिंग करता मजदूर

Oxygen Cylinder Refilling: बिहार के बेगूसराय में जिला प्रशासन की पहल पर 14 महीने से बंद पड़े ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट को चालू किया गया है जहां अब दिन रात रिफिलिंग हो रही है.

  • Share this:
बेगूसराय. जिले में बढ़ रहे लगातार संक्रमण के बीच जिला प्रशासन की पहल पर एक तरफ जहां बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट (Begusarai Oxygen Plant) को शुरू किया गया है तो वहीं रिफिलिंग कार्य में जुटे कामगारों का जज्बा भी काफी सराहनीय है. अभी दिन रात ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट (Oxygen Refilling Plant) में काम कर रहे मजदूरों के द्वारा तकरीबन 400 से 450 तक ऑक्सीजन सिलेंडर की रिफिलिंग की जा रही है. प्लांट के मजदूर विवेक एवं रघुवीर का कहना है कि लोगों की जान बचाना उन लोगों की प्राथमिकता है ऐसे में काम के घंटे मायने नहीं रखते.

बंद पड़े प्लांट को जिला प्रशासन की पहल पर किया गया था शुरू

दरअसल बेगूसराय जिले में कोरोना के दूसरे दौर के संक्रमण के बाद एकाएक संक्रमित मरीजों की संख्या में भारी वृद्धि होने लगी थी. इतना ही नहीं जब मरीजों को इलाज के लिए अस्पतालों में भर्ती कराया गया तो अस्पतालों में ऑक्सीजन गैस की उपलब्धता पर भी प्रभाव पड़ा और मेडिकल ऑक्सीजन की कमी सामने आने लगी. मेडिकल ऑक्सीजन की कमी होने के बाद जिला प्रशासन द्वारा 14 महीनों से बंद पड़े सोनी इंटरप्राइजेज नामक निजी रिफिलिंग प्लांट को दोबारा शुरू किया गया. अब एक तरफ जहां जिले में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी को पूरा कर लिया गया है तो वहीं आसपास के जिले एवं इलाकों में भी बेगूसराय से ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है.

दोनों प्लांट से अब 12 सौ से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर की हो रही है रिफिलिंग
जिला प्रशासन के द्वारा बंद पड़े प्लांट के साथ-साथ एक अन्य कमर्शियल लाइसेंस पर चल रहे ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट को 24 घंटे के अंदर मेडिकल में उपयोग आने वाली ऑक्सीजन रिफिलिंग का लाइसेंस उपलब्ध कराया गया है. उक्त संस्थान से भी तकरीबन 800 सिलेंडर की रोज रिफिलिंग की जा रही है. इस तरह से अस्पतालों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाई जा रही है जिससे कि कोरोना संक्रमित मरीज एवं अन्य मरीजों को भी किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज