होम /न्यूज /बिहार /

मुजफ्फरपुर बालिका गृह केस: सुरेश शर्मा ने इस्तीफा देने से किया इनकार

मुजफ्फरपुर बालिका गृह केस: सुरेश शर्मा ने इस्तीफा देने से किया इनकार

सुरेश शर्मा का नाम मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में घसीटने पर नगर विकास मंत्री ने मानहानि का केस दर्ज करा दिया था. इस मामले में कोर्ट ने बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के खिलाफ केस स्वीकार कर लिया.

अधिक पढ़ें ...
    बिहार सरकार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में यह स्पष्ट कर दिया वो नैतिकता के आधार पर इस्तीफा नहीं देंगे. इस सबंध मे उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया की वो अपना जवाब मीडिया को नहीं बल्कि कोर्ट को देंगे.

    दरअसल विकास मंत्री सुरेश शर्मा शनिवार को बेगूसराय में  इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का उद्घाटन करने पहुंचे थे. इस दौरान जब नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा से मीडिया ने सवाल पूछा. तो जवाब में उन्होंने कहा कि यह मामला समाज कल्याण विभाग से जुड़ा था. जिसके कारण मंत्री ने नैतिकता के हिसाब से इस्तीफा दे दिया. इन बातों से उनका काई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने भी उनपर कमेंट किया, उनपर वो कोर्ट में मामला दर्ज करा चुके हैं.

    नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा का नाम लेकर फंसे तेजस्वी, मुजफ्फरपुर में केस दर्ज

    आपको बता दें कि सुरेश शर्मा का नाम मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में घसीटने पर नगर विकास मंत्री  ने मानहानि का केस दर्ज करा दिया था. इस मामले में कोर्ट ने बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के खिलाफ केस स्वीकार कर लिया. सीजेएम कोर्ट ने आईपीसी की धारा 500 और 504 के तहत बुधवार को केस स्वीकार किया. तेजस्वी के खिलाफ मानहानि और जानबूझकर शांति भंग करने की धारा के तहत केस दर्ज किया गया है. दर्ज धाराओं में अधिकतम दो साल की सजा का प्रावधान है. अब इस मामले में 20 सितंबर को अगली सुनवाई होगी.

    मुजफ्फरपुर कोर्ट पर टिकीं निगाहें, नवजोत सिंह सिद्धू और तेजस्वी के मामलों में सुनवाई

    Tags: Muzaffarpur Shelter Home Rape Case

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर