बेगूसराय में नहीं होगी अब ऑक्सीजन की कमी, DM की पहल पर 14 महीने बाद शुरू हुआ रिफलिंग प्लांट.

बिहार के बेगूसराय में ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण करते डीएम

बिहार के बेगूसराय में ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण करते डीएम

Begusarai News: बिहार का बेगूसराय जिला भी कोरोना का बड़ा केंद्र है जहां रोजाना औसतन 100 से भी अधिक कोरोना के केस आ रहे हैं. डीएम ने बताया कि बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट को दोबारा चालू किया गया है जिसमें 480 सिलेंडर रोज रिफिलिंग करने की क्षमता है

  • Share this:
बेगूसराय. एक तरफ जहां बढ़ रहे लगातार कोरोना संक्रमण (Bihar Corona Crisis) के बीच कई जगहों पर मेडिकल उपयोग में आने वाले ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी की बातें सामने आ रही थी वैसे में बेगूसराय (Begusarai) जिला प्रशासन ने एक बेहतरीन पहल कर ऑक्सीजन की कमी को दूर करने का सार्थक प्रयास किया है. इसी कड़ी में डीएम अरविंद कुमार वर्मा की पहल के बाद तकरीबन 14 महीनों से बंद पड़े एक ऑक्सीजन निर्माण प्लांट (Oxygen Plant) को दोबारा शुरू किया गया तो वहीं कई जगहों पर ऑक्सीजन रिफिलिंग सेंटर को भी शुरू करने की कवायद तेज कर दी गई है. इसकी कमान डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने स्वयं अपने हाथों में रखी है.

अस्पतालों को भी ऑक्सीजन का दुरुपयोग नही करने का दिया गया निर्देश

अस्पताल प्रबंधन को भी मेडिकल उपयोग में आने वाले ऑक्सीजन का दुरुपयोग नहीं करने की सलाह दी जा रही है. डीएम अरविंद कुमार वर्मा द्वारा लगातार खुद ही सभी जगहों का सर्वेक्षण किया जा रहा है. बीती रात भी डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने देवना में अवस्थित ऑक्सीजन प्लांट सहित कई रीफीलिंग प्लांट का मुआयना किया.

1 से 2 दिनों के अंदर उपलब्ध होने लगेगा ऑक्सीजन सिलेंडर
डीएम ने बताया कि बंद पड़े ऑक्सीजन प्लांट को दोबारा चालू किया गया है जिसमें 480 सिलेंडर रोज रिफिलिंग करने की क्षमता है तो वहीं दूसरी ओर एक और गैस रिफिलिंग प्लांट को शुरू करने की दिशा में कदम बढ़ाए जा रहे हैं. डीएम अरविंद कुमार वर्मा ने बताया एक और ऑक्सीजन रिफलिंग प्लांट में जिनका लाइसेंस सिर्फ कमर्शियल ऑक्सीजन रिफिलिंग का था उन्हें मेडिकल उपयोग में आने वाले ऑक्सीजन का भी लाइसेंस दिया गया है और 1 से 2 दिनों के अंदर वहां से भी ऑक्सीजन गैस की रिफिलिंग शुरू हो जाएगी, जिससे कि बेगूसराय सहित अन्य जगहों पर भी ऑक्सीजन की कमी की समस्या को दूर किया जा सकेगा।

बेगूसराय जिले के अस्पतालों को दी जाएगी प्राथमिकता 

डीएम की मानें तो प्राथमिकता के रूप में पहले बेगूसराय जिले के सरकारी एवं निजी अस्पतालों को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति की जाएगी इसके लिए मजिस्ट्रेट के साथ-साथ निगरानी की टीम भी बनाई गई है जो इन कामों की मॉनिटरिंग करेगी जिससे कि बिचौलियों के द्वारा इसकी ब्लैक मार्केटिंग ना की जा सके
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज