लाइव टीवी
Elec-widget

2 दिसंबर से बंद हो जाएगा उत्तर-दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले राजेंद्र पुल !

santosh | News18 Bihar
Updated: December 1, 2019, 9:41 AM IST
2 दिसंबर से बंद हो जाएगा उत्तर-दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले राजेंद्र पुल !
बिहार का राजेंद्र पुल फाइल फोटो

राजेंद्र सेतु पर परिचालन बंद होने का प्रभाव बरौनी रिफाइनरी पर भी पड़ेगा और पेट्रोल डीजल सहित गैस की किल्लत भी पूरे बिहार की जनता को भुगतना पड़ेगा.

  • Share this:
बेगूसराय. बिहार की औद्योगिक राजधानी कही जाने वाली बेगूसराय में अवस्थित उत्तर और दक्षिण बिहार को जोड़ने वाला एकमात्र पुल राजेंद्र सेतु पर अब पूरी तरह से खतरा मंडराने लगा है. दरअसल रेल प्रशासन में एनएचआई को पत्र लिखकर सड़क परिचालन पूरी तरह बंद करने का निर्देश दिया है. आम लोगों की समस्याओं को देखते हुए जिला प्रशासन ने 2 दिसंबर को एनएचआई एवं रेल प्रशासन के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक बुलाई है. अब बैठक के बाद निर्णय लिया जाएगा की पुल पर सड़क मार्ग से जाने वाली गाड़ियों का परिचालन शुरु रहे या बंद. पुल की जर्जर स्थिति एवं परिचालन बंद होने की बात सामने आने के बाद स्थानीय लोगों एवं ट्रांसपोर्टरों और व्यवसायियों में हड़कंप मचा हुआ है.

कई बार रोका जा चुका है गाड़ियों का परिचालन

भारत की आजादी के बाद लोगों की समस्याओं को देखते हुए सरकार के द्वारा बेगूसराय जिले के सिमरिया और पटना जिले के हाथीदह के बीच राजेंद्र सेतु का निर्माण कराया गया था. निर्माण समय से ही इस पुल की देखरेख में प्रशासनिक लापरवाही की बातें सामने आती रहीं लेकिन हाल के दिनों में जर्जर हो चुके इस पुल पर कई बार सड़क मार्ग से गाड़ियों के परिचालन को रोका गया और पुल की मरम्मती के नाम पर करोड़ों रुपए की राशि खर्च की गई लेकिन मरम्मती के बाद महज 6 महीने के भीतर ही दोबारा पुल जीर्ण शीर्ण हो गया और गाड़ियों के परिचालन पर रोक लगी.

पुल बंद हुआ तो टूट जाएगा उत्तर और दक्षिण बिहार का संपर्क

वर्तमान समय में भी रेल प्रशासन ने एनएचआई को निर्देश दिया है कि राजेंद्र सेतु पर भारी तो क्या छोटे वाहनों के परिचालन पर रोक लगाया जाए ,क्योंकि पुल की स्थिति देखते हुए ऐसा प्रतीत होता है किस सड़क मार्ग में प्रयोग किए गए गाटर कभी भी टूट कर रेल पटरी पर गिर सकती है और इससे बड़ा हादसा हो सकता है. परिचालन बंद होने की स्थिति में उत्तर और दक्षिण बिहार का संपर्क लगभग भंग हो जाएगा. राजेंद्र सेतु ही ऐसा मार्ग है जिससे लखीसराय, मुंगेर , बेगूसराय, दरभंगा समस्तीपुर सहित बिहार के अन्य हिस्सों के लोग आवाजाही एवं व्यवसाय को कार्य रूप दे रहे हैं.

पुल बंद होने की स्थिति में बरौनी रिफायनरी भी होगी प्रभावित

लोगों की मानें तो राजेंद्र सेतु पर गाड़ियों के परिचालन बंद होते ही लोगों के सामाजिक तथा व्यापारिक दूरियां बढ़ेगी. पूर्व में भी निर्देश दिए गए हैं कि 18 टन से भारी वाहनों का परिचालन इस पुल पर संभव नहीं है लेकिन प्रशासनिक लापरवाही एवं एनएचआई के द्वारा सही देखरेख नहीं होने की वजह से ट्रांसपोर्टरों के द्वारा इनकी लगातार धज्जियां उड़ाई जा रही थी. राजेंद्र सेतु पर परिचालन बंद होने का प्रभाव बरौनी रिफाइनरी पर भी पड़ेगा और पेट्रोल डीजल सहित गैस की किल्लत भी पूरे बिहार की जनता को भुगतना पड़ेगा.
Loading...

जिला प्रशासन द्वारा पुल को ना बंद करने की की जा रही है पहल

सदर एसडीएम संजीव चौधरी ने बताया की जिला प्रशासन के द्वारा लगातार कोशिश की जा रही है कि राजेंद्र सेतु को बंद ना किया जाए और इसके लिए राजेंद्र सेतु पर मरम्मती कार्य भी करवाया गया है. इसी कड़ी में 2 दिसंबर को रेल प्रशासन एवं एनएचआई के अधिकारियों के साथ जिला प्रशासन की एक बैठक बुलाई गई और इसी बैठक में इस बात का हल भी निकाला जाएगा. जिला प्रशासन को उम्मीद है कि कोई बीच का रास्ता निकाल लिया जाएगा जिससे कि लोगों की दिनचर्या पर कोई खास असर ना पड़े.

ये भी पढ़ें- बढ़ती कीमत ने इस शहर में प्याज को बनाया 'देवता', बीच चौराहे पर हुई पूजा

ये भी पढ़ें- पराली जलाने पर 6 किसानों के खिलाफ FIR, सरकारी मदद का भी नहीं मिलेगा लाभ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बेगूसराय से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 9:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com