होम /न्यूज /बिहार /कौशल विकास योजना ने महिलाओं की बदली जिंदगी, प्रशिक्षण लेकर इतनी कर रही कमाई.. 

कौशल विकास योजना ने महिलाओं की बदली जिंदगी, प्रशिक्षण लेकर इतनी कर रही कमाई.. 

आम जन को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कौशल विकास योजना बड़ी भूमिका निभा रहा है. खासकर महिलाएं इस योजना का हिस्सा बनकर आत्मनिर ...अधिक पढ़ें

    नीरज कुमार

    बेगूसराय. बदलते दौर और बढ़ती महंगाई में बेहतर जीवन जीने के लिए आर्थिक रूप से सशक्त होनाजरूरी है. आर्थिक रूप से सशक्त होने के बाद हीं आत्मनिर्भर बना जा सकता है. कोरोना महामारी के दौरान लोगों की माली हालत चरमरा सी गई थी. इसको पटरी पर लाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान पर जोर दिया था. लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कौशल विकास योजना बड़ी भूमिका निभा रहा है. खासकर महिलाएं इस योजना का हिस्सा बनकर आत्मनिर्भर बनने के दिशा में लगातार कदम बढ़ा रही हैं. बेगूसराय जिले के गढ़हरा मेंमहिलाओं को स्वाबलंबी बनाने के लिए ब्यूटीशियन का कोर्स कराया जा रहा है. ताकि महिलाएं खुद अपने पैरों पर खड़ी हो सके.

    प्रशिक्षण लेकर महिलाएं बन सकती हैं आत्मनिर्भर

    स्थानीय ट्रेनर अर्चना कुमारी ने बताया कि कौशल विकास योजना के जरिए महिलाओं को ब्यूटीशियन का तीन महीने का कोर्स कराया जा रहा है. कोर्स पूरा करने के बादमहिलाएं खुद ब्यूटी पार्लर खोलकर 10 हजार रुपये प्रति महीने या लग्न त्यौहार में डिमांड पर मेकअप कर अच्छी कमाई कर सकते हैं. इससे महिलाएं अपने परिवार कि आर्थिक दशा को सुधारने में न सिर्फ योगदान दे सकती हैं बल्कि आत्मनिर्भर भी बन सकती हैं.

    प्रशिक्षण पा रही महिलाओं नेप्रधानमंत्री को दिया धन्यवाद

    प्रशिक्षण पा रही 30 वर्षीय महिला स्मिता कुमारी इस प्रशिक्षण से काफी खुश हैं. उन्होंने बताया कि हम अपनी आर्थिक स्थिति को अपने पैर पर खड़े होकर सुधार सकेंगे, इसके लिए देश के प्रधानमंत्री को धन्यवाद करना चाहेंगे. वर्तमान में इस अभियान के जरिए खुशी झा, स्वीटी कुमारी, मनीषा कुमारीसहित कुल 20 महलाओं को नि:शुल्क 3 महीने का ब्यूटीशियन कोर्स का प्रशिक्षणएनजीओ के द्वारा दिया जा रहा है. यह प्रशिक्षण रोजाना सुबह 10 बजे से 2 बजे नि:शुल्क दी जाती है.

    2015 में कौशल भारत मिशन की हुई थी शुरुआत

    बता दें कि कौशल विकास योजना की पृष्ठभूमि सरकार द्वारा वर्ष 2015 में कौशल भारत मिशन नाम से शुरू किया गया था. जिसके तहत प्रमुख रूप से प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) चलाई गई है। इसका उद्देश्य वर्ष 2022 तक भारत में 40 करोड़ से अधिक लोगों को विभिन्न कौशल में प्रशिक्षित करना है एवं समाज में बेहतर आजीविका और सम्मान के लिये भारतीय युवाओं को व्यावसायिक प्रशिक्षण व प्रमाणन प्रदान करना है. केन्द्र सरकार की यह योजना राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 समग्र विकास और रोजगार में वृद्धि के लिये व्यावसायिक प्रशिक्षण पर भी ध्यान केंद्रित करती है.

    Tags: Begusarai news, Bihar News in hindi, Job business and earning, Women Empowerment

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें