अपना शहर चुनें

States

भागलपुरः ट्रेनों की आवाजाही रोकी, डायनामाइट लगाया और चंद सेकेंड में 114 साल पुराना रेलवे ओवरब्रिज हुआ जमींदोज

भागलपुर के उल्टा पुल को रविवार को ध्वस्त कर दिया गया.
भागलपुर के उल्टा पुल को रविवार को ध्वस्त कर दिया गया.

भागलपुर (Bhagalpur) में अंग्रेजों के जमाने में बने उल्टा पुल (Ulta Pul) की जगह एक साल में तैयार होगा नया रेलवे ओवरब्रिज (railway overbridge). उल्टा पुल के ध्वस्त होने के बाद अब लोगों को मंजरोही अंडरपास से होकर गुजरना होगा.

  • Share this:
भागलपुर. रविवार को भागलपुर (Bhagalpur) के सौ साल से ज्यादा पुराने एक पुल का आखिरी दिन था. पीरपैंती प्रखंड के उत्तरी भाग को दक्षिणी इलाके से जोड़ने वाला 114 साल पुराना रेलवे ओवरब्रिज (railway overbridge) रविवार को ध्वस्त कर दिया गया. धनबाद (Dhanbad) से आए माइंस ब्लास्ट के विशेषज्ञों (Blast Expert) की टीम ने पुल को डायनामाइट (dynamite) लगाकर ब्लास्ट किया. पुल को ध्वस्त करने से पहले अगल-बगल के इलाके को पूरी तरह खाली कराया गया. उल्टा पुल (Ulta Pul) के नाम से जाना जाने वाले इस पुल को उड़ाने के लिए रेलवे (Railway) की ओर से मेगा ब्लॉक लिया गया था. पुल उड़ाए जाने से प्रखंड के 14 पंचायतों के ग्रामीणों को आवागमन में परेशानी का सामना करना होगा. भागलपुर के उल्टा पुल को ध्वस्त किए जाने से हजारों लोगों को महज 100 फीट की दूरी तय करने के लिए 3 किलोमीटर का चक्कर लगाना पड़ेगा.

7 घंटे तक ट्रेन बंद
सुंदरपुर और शेरमारी के बीच संपर्क बनाने वाले उल्टा पुल को ध्वस्त करने के लिए रेलवे ने 7 घंटे तक इस रूट पर ट्रेनों के लिए मेगा ब्लॉक लिया था. रेलवे के अनुभाग अभियंता (निर्माण) नीरज कुमार ने बताया कि पुल ब्लास्ट को लेकर सुबह 10 बजे से शाम के 5 बजे तक मेगा ब्लॉक लिया गया था. सुबह 11 बजे से माइंस एक्सपर्ट की देखरेख में पुल को कंट्रोल ब्लास्ट किया गया. इससे पहले एक्सपर्ट की टीम ने दो दिन तक पुल के पिलरों में सुराग बनाकर उसमें बारूद भरी. अंग्रेजों के जमाने में बने इस पुल को ध्वस्त होता देखने के लिए भारी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए थे, जिसके कारण कंट्रोल ब्लास्ट में थोड़ी देर हुई. प्रक्रिया पूरी होने पर महज 10 सेकेंड में पुल को ब्लास्ट कर दिया गया.

114-year-old-railway-overbridge-blew-up-with-dynamite-in-bhagalpur-brrt-nodrj | भागलपुरः ट्रेनों की आवाजाही रोकी, डायनामाइट लगाया और चंद सेकेंड में 114 साल पुराना रेलवे ओवरब्रिज हुआ जमींदोज
महज 10 सेकेंड में ही ध्वस्त हो गया 114 साल पुराना पुल.

1 साल में तैयार होगा नया पुल


रेलवे के इंजीनियर नीरज कुमार ने बताया कि तोड़े गए पुल के स्थान पर एक साल के भीतर नए पुल का निर्माण कर लिया जाएगा. इस दौरान लोगों को मंजरोही अंडरपास से होकर गुजरना होगा. पुल ब्लास्ट के समय रेलवे के अधिकारियों के साथ-साथ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी बड़ी संख्या में मौजूद थे. वहीं पुल उड़ाने वाले तीन सदस्यीय विशेषज्ञों के दल में मुरारी राय, विवेक हिमांशु तथा सूरज कुमार शामिल थे. इसके अलावा शैल उत्खनन अभियांत्रिकी विभाग के वरिष्ठ प्रधान वैज्ञानिक एसआईओसी सोम लियोन, वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी राकेश सिंह भी अपने 4 सदस्यीय टीम के साथ मौके पर मौजूद थे.

ये भी पढ़ें -

 

सड़क पर दिखे 'यमराज' तो विधायक को फौरन याद आया ट्रैफिक नियम, लगा ली सीट बेल्ट

 

DM का अनोखा आदेश- कड़ाके की ठंड में जारी कर दिया गर्मी की छुट्टी का फरमान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज