176 दिन बाद भागलपुर जंक्शन से विक्रमशिला ट्रेन कोविड स्पेशल बनकर दिल्ली रवाना

थर्मल स्क्रिनिंग के बाद ही मुसाफिरों को प्लेटफॉर्म में प्रवेश दिया गया.

थर्मल स्क्रीनिंग के बाद मुसाफिरों को प्लेटफॉर्म में प्रवेश करने दिया गया. यह स्पेशल ट्रेन छोटे स्टेशनों पर नहीं रुकेगी. पटना के बाद सीधे इसका ठहराव आनंदविहार स्टेशन पर ही होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
भागलपुर. भागलपुर जंक्शन (Bhagalpur Junction) से करीबन 176 दिन के बाद विक्रमशिला ट्रेन (Vikramshila Train) कोविड स्पेशल (Covid Special) बनकर दिल्ली (Delhi) के लिए रवाना हुई. 1456 यात्रियों के लिए निर्धारित स्पेशल ट्रेन इलेक्ट्रिक इंजन के साथ रवाना हुई है. एक लंबे अर्से के बाद यात्रियों और रेलकर्मियों को लेकर चली ट्रेन ने सबों के चेहरे पर खुशी ला दी. मौके पर ट्रेन को फूलों से सजाया गया था. कोविड के लिए तय मानदंडों का पालन किया गया. स्टेशन के बाहर, प्लेटफॉर्म पर और ट्रेन के भीतर भी सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का ख्याल रखा गया. थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही यात्रियों को प्लेटफार्म में प्रवेश करने दिया गया.

डेढ़ घंटे पहले स्टेशन पर पहुंचे मुसाफिर

निर्धारित समय से डेढ़ घंटे पहले मुसाफिर स्टेशन पर पहुंचे. सबने मास्क लगा रखी थी और थर्मल स्क्रीनिंग के बाद उन्हें प्लेटफॉर्म में प्रवेश करने दिया गया. यह स्पेशल ट्रेन छोटे स्टेशनों पर नहीं रुकेगी. पटना के बाद सीधे इसका ठहराव आनंदविहार स्टेशन पर ही होगा. ट्रेन में एसी फर्स्ट क्लास में 10, एसी सेकेंड क्लास में 80, एसी थर्ड में 288, स्लीपर में 880, सामान्य बोगी में 198 यात्रियों के लिए सीटें निर्धारित की गई हैं. ट्रेन में अन्य यात्री नहीं चढ़ पाएं, इसको लेकर ट्रेन में जीआरपी और स्टेशनों पर आरपीएफ बलों की प्रतिनियुक्ति की गई है. 176 दिनों के बाद हुए रेल परिचालन को लेकर रेलवे के अधिकारी प्लेटफॉर्म पर मुस्तैद रहे. ट्रेन के परिचालन के बाद स्टेशन पर स्टॉल संचालकों के चेहरों पर भी रौनक दिखी. विक्रमशिला आखिर बार 22 मार्च को आनंद विहार टर्मिनल के लिए खुली थी.

प्लेटफॉर्म पर 10 बजे पहुंची ट्रेन

यार्ड से ट्रेन सुबह 10 बजे प्लेटफॉर्म संख्या एक पर खड़ी हुई. ट्रेन में भागलपुर से सफर करने वाले यात्री घेरे में खड़े होकर अपने-अपने कोच में प्रवेश किए. प्लेटफार्म पर तैनात आरपीएफ और जीआरपी के जवान यात्रियों को शारीरिक दूरी बनाकर कोच में सवार होने की ताकीद करते रहे और यात्री भी आराम से ट्रेन पर सवार हुए. सिग्नल हरा होने के बाद गार्ड ने हरी झंडी दिखाई और ट्रेन भागलपुर से दिल्ली के खुली.

28 सितंबर तक ट्रेन में कोई जगह नहीं

पूछताछ काउंटर से लंबे अर्से बाद पहले की तरह लगातार उद्घोषणा की जा रहा थी. पहली ट्रेन के भागलपुर-दिल्ली के बीच चलने के बाद जल्द ही दूसरी ट्रेनों के परिचालन की आस आमजनों में जागृत हुई. टिकटों की बुकिंग की बात करें तो भागलपुर से 28 सितंबर तक स्पेशल में जगह नहीं है. वहीं, दिल्ली से 26 तक ट्रेन फुल है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.