अपना शहर चुनें

States

मिसाल: कोरोना से लड़ रहे सफाईकर्मियों को डिप्टी मेयर ने अपने पैसे से उपलब्ध कराया पीपीई किट

पीपीई किट में भागलपुर के सफाईकर्मी
पीपीई किट में भागलपुर के सफाईकर्मी

भागलपुर (Bhagalpur) के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल (JLN Hospital) को कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल बना दिया गया है. जिसके बाद कोरोना वार्ड में काम करने वाले डॉक्टर एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को पीपीई किट से लैस किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2020, 9:02 PM IST
  • Share this:
भागलपुर. भागलपुर के कोरोना (Corona Epidemic) प्रभावित नगर निगम क्षेत्र में सफाई और कूड़ों का उठाव का काम करने वाले कोरोना वारियर्स सफाईकर्मी पीपीई किट (PPE Kit) से लैस होकर काम करेंगे. प्रभावित इलाकों में काम करने वाले सफाईकर्मियों को डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने अपनी ओर से पीपीई किट एवं अन्य सुरक्षात्मक उपस्कर उपलब्ध कराये हैं.

अस्पताल और पुलिस कर्मियों को भी मिल चुका है किट

भागलपुर के जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल को कोरोना डेडिकेटेड अस्पताल बना दिया गया है. जिसके बाद कोरोना वार्ड में काम करने वाले डॉक्टर एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को पीपीई किट से लैस किया गया और फिर उसके बाद वार्ड सहित अस्पताल में सुरक्षा में लगे पुलिस के अधिकारी और जवानों को सीनियर एसपी आशीष भारती ने पहल करते हुए सबों को पीपीई किट से लैस कराया. साथ ही भीड़ भाड़ वाले इलाको में ड्यूटी में लगे जवानों को मास्क, ग्लव्स,सेनिटायजर के साथ कवर्ड फेस मास्क उपलब्ध कराया और इसी को देखते हुए डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने सफाईकर्मियों के लिए यह पहल की.



कोरोना प्रभावित है भागलपुर
भागलपुर में 17 दिनों के बाद कोरोना के चार पॉजिटिव मरीज मिले जिनमें से एक चिकित्सक समेत दो मरीज नगर निगम क्षेत्र का है. जिसके बाद प्रशासन की ओर से सिकंदरपुर और बरारी डीएम कोठी के आसपास के तीन किलोमीटर क्षेत्र को काँटेन्मेंट जोन के रूप में चिन्हित करते हुए सील कर दिया है. इन इलाकों में लोगों की आवाजाही को पूरी तरह रोक दिया गया है. मजिस्ट्रेट और पुलिस बलों के साथ कूड़ों के उठाव और निस्तारण को लेकर सफाईकर्मी जा रहे हैं और ऐसे में सफाईकर्मियों के संक्रमण की संभावना काफी बनने की थी और इसी आलोक में इस तरह की पहल की गयी.

डिप्टी मेयर बोले

डिप्टी मेयर राजेश वर्मा ने कहा कि जिम्मेदारी तो निगम प्रशासन की थी पर शहर और लोगों से जुड़ाव को लेकर पहल है. उन्होंने कहा कि वित्तीय शक्तियां तो निगम प्रशासन के हाथों में है पर अपने सफाई कर्मचारियों की ज़रूरतों को पूरा करने की चिंता और सफाई कर्मचारियों के लॉकडाउन में कर्तव्यों के निर्वहन में समर्पण के बावजूद प्रशासन की ओर से पहल नही किये जाने पर अपनी ओर से पहल करने को विवश हुए. उन्होंने कहा कि सफाईकर्मी कोरोना संक्रमण काल मे मजबूत स्तम्भ हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज