Home /News /bihar /

भुक्तभोगी पुलिसवाले की जुबानी- कभी ऐसा था शहाबुद्दीन का खौफ, ढूंढने से भी नहीं मिलते थे गवाह

भुक्तभोगी पुलिसवाले की जुबानी- कभी ऐसा था शहाबुद्दीन का खौफ, ढूंढने से भी नहीं मिलते थे गवाह

राजद के पूर्व सासंद और बाहुबली नेता शहाबुद्दीन की भले ही भागलपुर जेल रिहाई हो गई हो, लेकिन आज भी सीवान और आसपास के इलाकों में इस 'साहेब' की दहशत की सिहरन बरकरार है.

राजद के पूर्व सासंद और बाहुबली नेता शहाबुद्दीन की भले ही भागलपुर जेल रिहाई हो गई हो, लेकिन आज भी सीवान और आसपास के इलाकों में इस 'साहेब' की दहशत की सिहरन बरकरार है.

इस खौफ पर खुद मुहर वो लोग लगाते हैं जो उनके भुक्तभोगी हैं और अब अनचाहा डर के साये में जी रहे हैं. शहाबुद्दीन की दहशी के भुक्तभोगी एसडीपीओ और वर्तमान बिहार मिलिट्री फोर्स (बीएमपी) आठ के समादेष्टा सुधीर कुमार बताते हैं कि शहाबुद्दीन की ताकत जब चरम पर थी तो आम लोगों की कौन कहे खुद जज, पुलिस ही नहीं डॉक्टरों में भी उनके नाम की दहशत थी.

ये भी पढ़ें- जब शहाबुद्दीन के सामने दो भाइयों को तेजाब से नहला कर मार दिया गया


सुधीर का कहना है कि उस वक्त गवाह ढूंढने से भी नहीं मिलते थे. अगर कोई मिल गया तो उसे वो उपने घर में ही कई साल तक सुरक्षा की लिहाज से रखते थे.

सीवान में 'साहेब' के नाम से चर्चित शहाबुद्दीन की तस्वीर उस वक्त सीवान के हर दुकान में मौजूद होती थी. हत्या के एक मामले में उन्हें जेल भेजने के बाद लोगों के दिलों-दिमाग मे कानून का राज की बात सामने आई.

ये भी पढ़ें- शहाबुद्दीन को दबोच कर चर्चा में आये थे बिहार के ये दो अफसर


सुधीर को यह कहने में कोई गुरेज नहीं कि उस वक्त सीवान में उनके नाम का खौफ साफ देखा जाता था. इसलिए वहां रात में पुलिस रेड नहीं करती थी. जब उनकी तैनाती वहां हुई तो रात में पुलिस ने रेड करना शुरू किया. इसके बाद शहाबुद्दीन के गुर्गे सीवान छोड़कर फरार हो गए और धीरे-धीरे शहाबुद्दीन का खौफ लोगों में खत्म होने लगा.

ये भी पढ़ें- नीतीश बताएं शहाबुद्दीन उनके 'साहेब' हैं या सरकार उनकी नहीं है


सुधीर का कहना है कि भारत प्रजातांत्रिक देश है और शहाबुद्दीन कोई नायक नहीं है जिसका डर लोगों को अब भी रहेगा. हां, कुछ लोगों में इन्हें लेकर अब भी वो डर और खौफ जरूर है.

Tags: Mohammad shahabuddin, Siwan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर