होम /न्यूज /बिहार /Success Story: पांच बार परीक्षा में फेल ये युवा, फिर छठी बार में सीडीएस में लाया AIR 14 रैंक, जानें डिटेल

Success Story: पांच बार परीक्षा में फेल ये युवा, फिर छठी बार में सीडीएस में लाया AIR 14 रैंक, जानें डिटेल

शुभम के पिता भी सेना से रिटायर्ड हवलदार हैं. अपने पिता से  सेना में जाने की प्रेरणा मिली. इसके बाद पांच बार इंटरव्यू मे ...अधिक पढ़ें

    शिवम सिंह/भागलपुर. बिहार के भागलपुर जिले के मधुबनी गांव के शुभम पांच बार से एनडीए प्रतियोगिता परीक्षा की पीटी भी नहीं निकाल पाते थे. पर छठी बार में शुभम ने UPSC सीडीएस परीक्षा में ऑल इंडिया रैंक में 14 स्थान प्राप्त किया. जिससे उसके पिता सहित पूरे गांव वाले गर्व महसूस कर रहे हैं. आइए जानते हैं इनके संघर्ष को.

    पिता से मिली सेना में जाने की प्रेरणा, फिर सीडीएस की ओर हुआ झुकाव
    शुभम के पिता रिटायर्ड हवलदार हैं. जो सेना में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. शुभम ने कहा कि अपने पिता से सेना में जाने की प्रेरणा मिली. उन्हें देश की सेवा करने का इच्छा प्रकट की और तैयारी शुरू की. शुभम ने बताया कि पिछले 5 वर्ष से एनडीए की परीक्षा में असफल हो रहे थे. पीटीवी नहीं पास कर पा रहा था. छठी बार में यूपीएससी की कठिन परीक्षा सीडीएस को पारकर सफल हुआ. इस सफलता की खबर सुनने के साथ ही ग्रामीण शाह भाजपा जिला उपाध्यक्ष रोशन सिंह ने उनके वर्तमान निवास पटना में जाकर मिठाई खिलाकर उन्हें बधाई दी.

    कई ऑनलाइन इंटरव्यू सेक्शन देखा, इससे इंटरव्यू क्रैक करने में मिली मदद
    शुभम ने लोकल 18 को कॉल पर बताया की उसके पिता सिपाही से हवलदार बन कर रिटायर हुए है. लेकिन मैंने डिफेंस में उच्च अधिकारी बनने का सपना शुरू से ही पाला हुआ था. बीच में कोरोना काल में कोचिंग संस्थान बंद हो गए थे. लेकिन ऑनलाइन पढ़ाई ने मुझे बहुत साथ दिया. लगातार असफल होने के बाद मैंने कई ऑनलाइन इंटरव्यू सेक्शन भी देखा. जिससे की मुझे पता चला की कैसे इंटरव्यू क्रैक करते है.मुझसे कहा चूक हो जाती है इसपर काम किया. सेल्फ स्टडी मेरे लिए बहुत सहायक हुई. मन में जब भी निराशा आती थी तो मम्मी पापा मुझे हिम्मत देते थे. हमारे गांव में बहुत लोग डिफेंस में है जिनसे मुझे और भी प्रेरणा मिली है.

    प्रारंभिक शिक्षा भागलपुर के डीएवी स्कूल से हुई
    शुभम बताते हैं कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा भागलपुर के डीएवी स्कूल से दसवीं-बारहवीं तक हुई है. वे लगातार पांच बार डिफेंस की परीक्षा में असफल रहे थे. इस सफलता का श्रेय शुभम ने खुद के कठिन परिश्रम व माता-पिता और गुरुजनों के आशीर्वाद को दिया है. उनकी सफलता प्राप्त करने पर उनके घर लोगों का बधाई देने वालों का तांता लग गया है.

    Tags: Bhagalpur news, Bihar News

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें