Bihar Election 2020: भोले बाबा की नगरी 'सुल्तानगंज' सीट पर होगी कांटे की लड़ाई

भोले बाबा की नगरी 'सुल्तानगंज' सीट पर होगी कांटे की लड़ाई (file photo)
भोले बाबा की नगरी 'सुल्तानगंज' सीट पर होगी कांटे की लड़ाई (file photo)

2015 के चुनाव से इस बार का राजनीतिक समीकरण बदला हुआ है. पिछले चुनाव में राजद, कांग्रेस और जदयू (JDU) का गठबंधन (Alliance) था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 8:08 PM IST
  • Share this:
सुल्तानगंज. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) की सुगबुगाहट के साथ ही भागलपुर जिले के अंतर्गत आने वाले सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र (Sultanganj Assembly Seat) में भी चुनावी गहमागहमी शुरू हो गई है. राजनीति के क्षेत्र में भी सुल्तानगंज विधानसभा सीट की अलग पहचान है. कांग्रेस (Congress) का गढ़ माने जाने वाले इस क्षेत्र पर जदयू (JDU) लगातार चौथी बार जीत दर्ज कर चुका है. जदयू जीत का पंच लगाने की तैयारी में है. वहीं, महागठबंधन व एनडीए में कांटे की लड़ाई होने की उम्मीद है.

विधानसभा क्षेत्र में सुल्तानगंज और शाहकुण्ड प्रखंड आता है. इसके अलावा एक नगर परिषद है. नये परिसीमन से पहले सुल्तानगंज और धोरैया भागलपुर लोकसभा क्षेत्र में आता था. यह विधानसभा क्षेत्र 1980 से 2005 तक आरक्षित रहा. 1951 में कांग्रेस के रासबिहारी लाल पहले विधायक बने थे. इसके बाद लगातार तीन बार इस सीट पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की.

2015 के बाद बदला समीकरण
2015 के चुनाव से इस बार का राजनीतिक समीकरण बदला हुआ है. पिछले चुनाव में राजद, कांग्रेस और जदयू का गठबंधन था. गठबंधन के तहत जदयू को यह सीट मिली थी. एनडीए की तरफ से रालोसपा के हिस्से में सीट गयी थी. गठबंधन की स्थिति अभी साफ नहीं हुई है लेकिन पूर्व के चुनाव को देखते हुए इस बार रोचक चुनाव होने वाला है.




बाबा शिव की नगरी के रूप में पहचान

धार्मिक मान्यता के अनुसार सुल्तानगंज में उत्तरवाहिनी गंगा प्रवाहित होती है. इसके चलते यहां का खास महत्व है. हर साल करीब एक करोड़ कांवरिये सुल्तानगंज स्थित गंगा का जल लेकर देवघर जाते हैं. सावन और भादो महीने में सुल्तानगंज और आसपास का इलाका भक्तिमय हो जाता है. इसे राजकीय मेला का दर्जा प्राप्त है. यहां दो महीने अनवरत कांवरिया चलते रहते हैं. सुल्तानगंज का अजगैबीनाथ मंदिर और शाहकुण्ड पहाड़ पर स्थित मंदिर आस्था का प्रतीक है.

सुल्तानगंज जिले की कुल आबादी

सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र की अधिकांश आबादी ग्रामीण क्षेत्र में रहती है. वहीं धान, गेहूं और मक्का यहां की मुख्य फसलें हैं.

कुल मतदाता: 3,24, 728
पुरुष: 1,72, 372
महिला: 1,52,336

मुस्लिम, यादव, कुशवाहा बहुल क्षेत्र
सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र यादव, मुस्लिम, कुशवाहा बहुल क्षेत्र है. यहां कोयरी, सवर्ण और अनुसूचित जाति, जनजाति की आबादी भी अच्छी है.

राजनीतिक दृष्टि से भी महत्वपूर्ण
जिले में राजनीतिक दृष्टिकोण से भी इस क्षेत्र को महत्वपूर्ण माना जाता है. केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे इस विधानसभा क्षेत्र से आते हैं. जिला परिषद अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ टुनटुन साह, भागलपुर नगर निगम की मेयर सीमा साहा और दी भागलपुर सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष देवेन्द्र प्रसाद सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र अन्तर्गत शाहकुण्ड प्रखंड से आते हैं.

निर्वाचित विधायक
2015- सुबोध राय (जदयू)
2010- सुबोध राय (जदयू)
2005 (अक्टूबर)- सुधांशु शेखर भास्कर (जदयू)
2005 (फरवरी)- सुधांशु शेखर भास्कर (जदयू)
2000- गणेश पासवान (समता पार्टी)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज