पुलिस स्टेशन से शराब के नशे में दबोचे गए दो ASI, एक गिरफ्तार तो दूसरा चकमा देकर हुआ फरार

बिहार के नवगछिया से दो पुलिसवाले शराब के नशे में गिरफ्तार
बिहार के नवगछिया से दो पुलिसवाले शराब के नशे में गिरफ्तार

बिहार के नवगछिया पुलिस जिला में ये कार्रवाई एसपी के निर्देश पर की गई है. एसपी ने दोनों पुलिसवालों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 21, 2020, 8:23 AM IST
  • Share this:
भागलपुर. बिहार में एक बार फिर से पुलिसिंग का दागदार चेहरा देखने को मिला है. मामला नवगछिया पुलिस जिला से जुड़ा है जहां के भवानीपुर ओपी में पदस्थापित दो जमादार शराब के नशे में धुत्त अपने ही महकमे के पदाधिकारी के हत्थे चढ़ गए. मौके पर पहुंचे नवगछिया एसडीपीओ दिलीप कुमार ने दोनों को शराब के नशे में पाया जिसके बाद दोनों को गिरफ्तार किया गया लेकिन मौके से जमादार परमहंस सिंह फरार हो गया,जबकि जमादार सुभाष यादव को गिरफ्तार कर लिया गया.

शराबी पुलिसकर्मी को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया. एसपी स्वप्नाजी मेश्राम ने दोनों एएसआई को निलंबित कर दिया है. दोनों के खिलाफ भवानीपुर ओपी,थाना-बिहपुर में मामला दर्ज किया गया है. नवगछिया एसपी स्वप्नाजी मेश्राम ने दोनों के शराब पीने के पाए जाने और निलम्बन की कार्रवाई की पुष्टि की है. एसपी ने दोनों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने की भी बात कही.

बताया जाता है कि एसपी को दोनों जमादार के ओपी में शराब के नशे में होने की गुप्त सूचना मिली थी,जिसके बाद उन्होंने नवगछिया एसडीपीओ दिलीप कुमार और भवानीपुर थानेदार नीरज कुमार को थाना भेजा, जहां दोनों जमादार को शराब के नशे में पाया गया. उसके बाद दोनों की ब्रेथ एनालाइजर से जांच कराई गयी तो दोनों नशे में पाये गए जिसके बाद कार्रवाई के दौरान जमादार परमहंस सिंह मौके से फरार हो गया जबकि सुभाष यादव पुलिस अधिकारियों के हत्थे चढ़ गया,जिसे तुरंत ही गिरफ्तार कर लिया गया.



जेल भेजे गये जमादार सुभाष यादव ने परमहंस सिंह के साथ शराब पीने की बात पुलिस अधिकारियों के समक्ष की है. नवगछिया पुलिस जिला में पुलिस के शराब में नशे की हालत में पकड़े जाने की यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले भी दो मामले सामने आये थे. इससे पहले खरीक के तत्कालीन थानेदार दिलीप कुमार को भी शराब के नशे में पकड़ा जा चुका है, साथ ही एक अन्य दरोगा सुनील कुमार भी पहले शराब के नशे में गिरफ्तार हो चुके हैं. नशाबन्दी कानून को रोकने के जिम्मेवार ही जब नशे की हालत में पकड़ा जाय तो शराबबंदी को लेकर सवालिया निशान लगना लाजिमी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज