लाइव टीवी

तांत्रिक के चक्कर में दीपावली की रात चाचा ने भतीजे की दी नरबलि, ये थी वजह

Rahul Kumar Thakur | News18 Bihar
Updated: October 28, 2019, 9:16 PM IST
तांत्रिक के चक्कर में दीपावली की रात चाचा ने भतीजे की दी नरबलि, ये थी वजह
संतान पाने के लिए चाचा ने भतीजे के साथ किया ये काम.

भागलपुर (Bhagalpur) में नरबलि (Human Sacrifice) का सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोपी शिवनंदन दास (Shivanandan Das) ने संतान पाने के लिए तांत्रिक के चक्कर में आकर अपने दस साल के भतीजे की बलि दे दी. यह घटना दीपावली की रात की है.

  • Share this:
भागलपुर. बिहार के भागलपुर (Bhagalpur) में एक अनोखा मामला सामने आया है, जहां आरोपी ने संताने पाने के लिए अपने भतीजे की नरबलि (Human Sacrifice) दे दी. आरोपी शिवनंदन दास (Shivanandan Das) ने पूजा-पाठ के साथ कई डॉक्टरों से संपर्क करने के बाद तांत्रिक का सहारा लेना शुरू किया था. तांत्रिक विलास मंडल घर में पूजा-पाठ से लेकर कई तरह के अनुष्ठान लगातार करता रहता था और इसी क्रम में दीपावली की रात अपने खास मासूम की बलि देने की सलाह पर इस तरह के कुकृत्य को अंजाम दिया. जबकि पुलिस ने आरोपी चाचा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

यहां हुई ये घटना
भागलपुर के पीरपैंती में तांत्रिक के चक्कर में चाचा ने अपने ही दस साल के भतीजे की बलि दे दी. घटना पीरपैंती थाना क्षेत्र के श्रीमतपुर हजूरनगर पंचायत के बिनोबा टोले की है. शिवनंदन दास की अपनी कोई संतान नहीं थी, लिहाजा संतान प्राप्ति को लेकर वह तांत्रिक के चक्कर में था. जबकि तांत्रिक के ही कहने पर उसने अपने भतीजे को दीपावली की मध्य रात्रि को बांस के बिट्टी में गला काटकर जमीन में गाड़ दिया था. मृतक दस साल का कन्हैया सिकन्दर दास का पुत्र था और उसका सगा चाचा बीती शाम घर से पटाखे दिलवाने के बहाने घर से बाजार ले गया था.

ऐसे हुआ खुलासा

आरोपी शिवनंदन दास ने देर रात ही बांस की बिट्टी में गला काटकर तांत्रिक के मुताबिक अनुसार मिट्टी में दफना दिया. सुबह में कन्हैया के नहीं मिलने पर खोजबीन किये जाने पर पीरपैंती थाना पुलिस को मामले की जानकारी दी गयी. इसके बाद मौके पर पीरपैंती थाना पुलिस ने पहुंच कर आरोपी शिवनंदन दास के साथ जब सख्ती दिखायी तो उसने सारा घटनाक्रम उगल दिया. इसके बाद पुलिस ने आरोपी चाचा शिवनंदन दास को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि बच्‍चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भागलपुर जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजा है. घटना के बाद से घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है और तांत्रिक विलास मंडल फरार है. हालांकि पुलिस तांत्रिक की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

एसएसपी आशीष भारती ने दिए ये आदेश
घटना की सूचना के बाद बड़ी संख्या में लोग पीरपैंती थाना सहित गांव में जमा हो गए और 21वीं सदी में अंधविश्वास को लेकर इस तरह के कृत्य पर कई तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं. स्‍थानीय लोगों के अनुसार नि:संतान के कारण आरोपी शिवनंदन दास पूजा पाठ के साथ कई डॉक्टरों से संपर्क करने के बाद तांत्रिक का सहारा लेना शुरू किया था. एसएसपी आशीष भारती ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पीरपैंती थानाध्यक्ष को ना सिर्फ आरोपी दास बल्‍कि तांत्रिक की गिरफ्तारी के लिए कई निर्देश दिए है.
Loading...

ये भी पढ़ें-

दिवाली की रात घर में घुसे अपराधी, फिर एक साथ बिछा दी पति-पत्नी और बेटी की लाश

 वैशाली में अपराधियों की पुलिस से मुठभेड़, तीन को लगी गोली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भागलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2019, 8:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...