बिहार चुनाव: विपक्ष नहीं, चिराग के निशाने पर सिर्फ नीतीश, फिर बोले- CM को जेल भेज कर ही मानूंगा

भोजपुर जिले के संदेश विधानसभा क्षेत्र में लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए चिराग पासवान.
भोजपुर जिले के संदेश विधानसभा क्षेत्र में लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए चिराग पासवान.

ऐसा लगता है कि बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election ) में चिराग पासवान (Chirag Paswan) सिर्फ और सिर्फ सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को विपक्ष मान रहे हैं और अन्य विरोधी दलों के खिलाफ कुछ नहीं बोल रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 7:57 AM IST
  • Share this:
रिपोर्ट--अभिनय प्रकाश, आरा
पटना. भाजपा से टिकट नहीं मिलने के बाद संदेश विधानसभा क्षेत्र से लोजपा की प्रत्याशी श्वेता सिंह (Shweta Singh) के प्रचार में पहुंचे LJP अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) फिर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर बरसे. उन्होंने सात निश्चय योजना में भ्रष्टाचार और बिहार को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए और इतना तक कह दिया कि वह नीतीश कुमार को जेल भिजवा कर मानेंगे. उन्होंने ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो निश्चय योजना की जांच करवाएगी और इन्वेस्टिगेशन होगा तो नीतीश कुमार जेल चले जायेंगे. चिराग ने आरोप लगाया कि सीएम नीतीश की नाक के नीचे भष्टाचार हुआ है, लेकिन उनको नहीं पता है. उन्होंने कहा कि ये लोग चाहते हैं कि पीएम मोदी (PM Modi)  यह बोले कि वो चिराग के साथ नहीं है, लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है.

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश को विपक्ष मानकर चिराग ने अन्य पार्टियों ने बारे में एक शब्द नहीं बोला. मानों चिराग की लड़ाई सिर्फ और सिर्फ नीतीश कुमार से ही हो. उन्होंने कहा कि नीतीश  की कोई भी योजना सफल नहीं रही है. यही नहीं नीतीश कुमार झूठे भी हैं क्योंकि उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी झूठ बोला है. उन्होंने कहा था कि नली गली उन्होंने हर गांव में बनवाया है,  लेकिन जमीनी हकीकत क्या है जनता सब जानती है.

उन्होंने कहा कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था और भी बदतर हो गई है. बिहार में कभी भी कॉलेज में ग्रेजुएशन की डिग्री तीन सालों में नहीं मिलती. आपको डिग्री हासिल करने के लिए पांच सालों का इंतजार करना पड़ता है. ऐसे में छात्रों का भविष्य अंधेर में लटकता दिख रहा है. उन्होंने कहा कि आपको पता है बिहार में तीन सालों पर ग्रेजुएशन की डिग्री क्यों नहीं मिलती क्योंकि अगर छात्र पास हो जायेंगे उनको डिग्री मिल जायेगी तो वो नीतीश कुमार से रोजगार मांगने लगेंगे. आखिर दिल्ली से छात्र पढ़ने के लिए बिहार क्यों नहीं आते हैं.
उन्होंने कहा कि बिहार से बाहर के शहरों में कारखाना खुल सकता है तो बिहार में कारखाना क्यों नहीं खुल सकता है. बिहार में कारखाना नहीं खुलने की वजह से लोग बिहार से बाहर जा रहे है. वहीं जनता से अपील करते हुए उन्होंने अपने प्रत्याशी के लिए वोट मांगे और नीतीश को धूल चटाने के लिए जनता से अपील की. साथ ही उन्होंने कहा कि ये 18 दिन महत्वपूर्ण हैं नहीं तो हमारा बिहार फिर 50 साल पीछे चला जायेगा. क्योंकि पिछले 30 साल हमने गलत लोगों को सत्ता दे दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज