भोजपुर पुलिस के हत्थे चढ़ा BJP नेता विशेश्वर ओझा हत्याकांड का शूटर

बुआ सिंह जो भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विशेश्वर ओझा हत्याकांड का नामजद अभियुक्त भी है और वह कई सालों से इस कांड में फरार चला रहा था.

News18 Bihar
Updated: August 28, 2019, 4:26 PM IST
भोजपुर पुलिस के हत्थे चढ़ा BJP नेता विशेश्वर ओझा हत्याकांड का शूटर
भोजपुर में बीजेपी नेता विशेश्वर ओझा की हत्या उस वक्त की गई थी जब वो शादी मेें शामिल होने जा रहे थे (मामले की जानकारी देते एसपी)
News18 Bihar
Updated: August 28, 2019, 4:26 PM IST
भोजपुर पुलिस ने अलग-अलग तीन मामलों में चार शातिर अपराधियों को हथियार के साथ गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए अपराधियों में से एक भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष विशेश्वर ओझा हत्याकांड में फरार चला आ रहा नामजद अभियुक्त हरेन्द्र सिंह उर्फ बुआ सिंह भी शामिल है. हरेन्द्र सिंह उर्फ बुआ सिंह को दियारा का आतंक भी माना जाता है. इस आशय की जानकारी भोजपुर एसपी सुशील कुमार ने एक प्रेसवार्ता को संबोधित कर दी.

बड़ी घटना को अंजाम देने की थी तैयारी

पुलिस कप्तान ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि भोजपुर पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि कुख्यात अपराधकर्मी हरेन्द्र सिंह उर्फ बुआ सिंह अपने कुछ साथियों के साथ हथियार से लैस होकर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहा है. पुलिस कप्तान ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एएसपी अभियान नितीन कुमार और जगदीशपुर एसडीपीओ, पीरो एसडीपीओ के नेतृत्व में एक टीम गठित कर छापेमारी करने का निर्देश दिया.

पुलिस को देखते ही भागने लगे कुख्यात

टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर शाहपुर थाना क्षेत्र के कारनामेपुर ओपी अंतर्गत ईश्वरपूरा गांव में छापेमारी की. पुलिस को आते देख अपराध कर्मी भागने लगे. इस दौरान पुलिस ने भाग रहे दो बदमाशों को दौड़ कर पकड़ लिया. गिरफ्तार दोनों बदमाशों में से एक बुआ सिंह जो भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष विशेश्वर ओझा हत्याकांड का नामजद अभियुक्त भी है और वह कई सालों से इस कांड में फरार चला रहा था. पुलिस ने उसके पास से एक देशी लोडेड कट्टा बरामद किया है जबकि उसके दूसरे साथी करिया सिंह के पास से जिंदा कारतूस बरामद किया गया है.

कोर्ट से निकलते ही थी हत्या की प्लानिंग

दूसरी सफलता पुलिस को नवादा थाना इलाके में कोर्ट के समीप से मिली है जहां पुलिस ने ना केवल एक बड़ा घटना होने से बचा लिया बल्कि घटना को अंजाम देने वाले अपराधी को भी हथियार के साथ धर दबोचा. एसपी ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि महाराणा प्रतापनगर के विश्वनाथ सिंह की हत्या आरा कोर्ट से निकलने के दौरान करने की योजना जेल में बंद एक अपराधकर्मी के इशारे पर की जा रही है.
Loading...

पुलिस ने मंसूबे पर फेरा पानी

इस घटना को अंजाम देने के लिए दो अपराधी न्यायालय गेट के आसपास घूम रहे हैं. मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस कप्तान ने त्वरित कार्रवाई करते हुए न्यायालय गेट के समीप इधर-उधर भटक रहे दो संदिग्ध युवकों को गिरफ्तार करने की कोशिश की तब तक दोनों बदमाश पुलिस पर फायरिंग कर भागने लगे. पुलिस ने एक भाग रहे बदमाश अंकित सिंह को गिरफ्तार कर लिया जिसके पास से देशी पिस्तौल, पिस्टल, 5 जिंदा कारतूस, मोटरसाइकिल बरामद किया गया है. पकड़े गए अंकित का दूसरा साथी मौके का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 4:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...