होम /न्यूज /बिहार /Bhojpur: होना है आत्मनिर्भर तो यहां आएं, मुफ्त प्रशिक्षण पाकर महीने में कमा सकते हैं लाखों रुपया

Bhojpur: होना है आत्मनिर्भर तो यहां आएं, मुफ्त प्रशिक्षण पाकर महीने में कमा सकते हैं लाखों रुपया

PNB Rural Self Employment Institute: बता दें कि पीएनबी ग्रामीण स्वरोजगार संस्थान भोजपुर जिले के कोईलवर ब्लॉक परिसर में ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट : आलोक कुमार भारती

    भोजपुर. यदि आपके पास कोई काम नहीं हो तो आर्थिक रूप से सबल बनने के लिए हुनरमंद होना आवश्यक है. पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं को हुनरमंद बनाने के लिए विभिन्न बैंकों के द्वारा समय-समय पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है. यहां से हुनर सिखकर लोग न सिर्फ खुद आत्मनिर्भर होते हैं, बल्कि दूसरों को भी रोजगार मुहैया कराते हैं. भोजपुर जिले में भी पंजाब नेशनल बैंक द्वारा संचालित ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान कोईलवर में जिले के 14 प्रखंडों से प्रशिक्षणार्थी स्वरोजगार व आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रशिक्षण लेने पहुंच रहे हैं.

    आरसेटी भोजपुर की स्थापना 28 मार्च 2012 को हुई थी. विगत 10 वर्षों में अभी तक 18 विभिन्न ट्रेडों में 6345 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है. कोईलवर स्थित ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान पंजाब नेशनल बैंक ऑर्गेनाइज करता है. आरसेटी के निदेशक राणा संजीत ने बताया कि संस्थान में पिछले 10 वर्ष में कुल 213 प्रोग्राम आयोजित किए गए. 18 विभिन्न ट्रेडों में अभी तक 6345 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है. इसमें से 4325 प्रशिक्षु अब अपना व्यवसाय कर रहे हैं. जरूरत होने पर जिला के लीडिंग बैंक से लोन भी उपलब्ध कराया गया है. मीरा कुमारी ने बताया कि कैंप के द्वारा उन्हें पता चला कि कोईलवर स्थित आरसेटी में विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण मुफ्त में दिया जाता है. इसके बाद वह भी यहां सिलाई का प्रशिक्षण ले रही हैं.

    हर तरह की ट्रेनिंग

    मालूम हो कि पीएनबी ग्रामीण स्वरोजगार संस्थान भोजपुर जिले के कोईलवर ब्लॉक परिसर में स्थित हैं. यहां प्रशिक्षुओं को मुफ्त में ट्रेनिंग के साथ-सथ दोपहर का खाना भी उपलब्ध कराया जाता है. जनवरी से दिसम्बर तक 18 अलग-अलग ट्रेड में यह ट्रेनिंग सेशन चलते रहता है. संस्थान के रोस्टर के अनुसार पापड़, अचार मसाला निर्माण, सिलाई-कटाई, इलेक्ट्रिक, मुर्गी पालन, ब्यूटी पार्लर, मत्स्य पालन, बकरी पालन, कुकुट पालन, मधुमक्खी पालन, मोबाइल रिपेयरिंग, अगरबत्ती निर्माण, मशरूम उत्पादन, डेयरी फार्मिंग व वर्मी कम्पोस्ट, जूट बैग निर्माण, एयर कंडीशन व रेफ्रिजरेटर मरम्मत, जनरल ईडीपी का प्रशिक्षण दिया जाता है. मालूम हो कि देश में कुल 586 आरसेटी का ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण केंद्र है, जो भारत सरकार के ग्रामीण विकास विभाग एवं जिला के अग्रणी बैंकों द्वारा संचालित किया जाता है.

    Tags: Bhojpur news, Bihar News, Special training

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें