Home /News /bihar /

रजरप्पा मंदिर में सीआरपीएफ के जवान ने दी अपनी बलि, बक्सर का था निवासी

रजरप्पा मंदिर में सीआरपीएफ के जवान ने दी अपनी बलि, बक्सर का था निवासी

रजरप्पा मंदिर

रजरप्पा मंदिर

प्रत्यक्षदर्शियों ने भी घटना के बारे में बताया कि व्यक्ति ने सुबह मंदिर में मां छिन्नमस्तिका की पूजा अर्चना की और उसके बाद माता की प्रतिमा के आगे खुद की बलि चढ़ा दी. इस घटना के बाद से मंदिर में ताला लगा दिया गया है और पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. मृतक दो दिन पहले ही अपने गांव बक्सर के बलिहार से छुट्टी बिता ड्यूटी पर गया था.

अधिक पढ़ें ...
  • News18.com
  • Last Updated :
    झारखंड के मशहूर रजरप्पा मंदिर में मंगलवार को एक शख्स ने गला रेत कर आत्महत्या कर ली. मृत शख्स की पहचान सीआरपीएफ के जवान के रूप में की गई है.

    इस घटना को आत्मबलि से भी जोड़ कर देखा जा रहा है. मृतक मूल रूप से बिहार का रहने वाला था.  इस अजीबोगरीब घटना के बाद मंदिर में आपाधापी मच गई. पुलिस ने भी मृतक के सीआरपीएफ का जवान होने की पुष्टि की है.  उसकी पोस्टिंग उड़ीसा में थी.

    मंदिर में मौजूद लोगों के मुताबिक, संजय सोमवार से ही मंदिर के आसपास देखा गया था. वो पहले से ही बलि देने का मन बना कर यहां आया था. उसके पास ठीक वैसी ही नई कटारी थी, जैसी की मां छिन्नमस्तिका की मूर्ति में लगाई गई है

    वो रामगढ़ के रजरप्पा मंदिर में पूजा करने गया था. बक्सर के बलिहार गांव के रहने वाले शख्स का नाम संजय नट था.  उसने मंदिर में पूजा अर्चना के बाद अपने साथ लाए गए धारदार हथियार से गला काटकर अपनी बलि चढ़ा दी.

    प्रत्यक्षदर्शियों ने भी घटना के बारे में बताया कि व्यक्ति ने सुबह मंदिर में मां छिन्नमस्तिका की पूजा अर्चना की और उसके बाद माता की प्रतिमा के आगे खुद की बलि चढ़ा दी. इस घटना के बाद से मंदिर में ताला लगा दिया गया है और पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

    मृतक दो दिन पहले ही अपने गांव बक्सर के बलिहार से छुट्टी बिता वापस आया था. घर में पत्नी शारदा देवी और दो बेटे और दो बेटियां हैं.  घटना के बाद से मंदिर के मुख्य द्वारा पर खून फैल गया और संजय वहीं गिरा रहा. पुलिस ने संजय के पॉकेट की तलाशी ली तो कागज मिला.

    इससे उसकी पहचान हुई और कागज में मिले फोन नम्बर से उसके घरवालों को सूचना दी गई. संजय के परिजनों के अनुसार, संजय की मानसिक स्थिति बिल्कुल ठीक थी और वो खेती-किसानी का भी काम करता था.

    घटना के बाद मंदिर में पूजा अर्चना पर रोक लगा दी गई है. मंदिर के महंत ने बताया कि अब शुद्धिकरण के बाद ही मंदिर में पूजा अर्चना शुरु हो सकेगी। दोपहर तक पूजा बंद रहेगी, इस दौरान विधिवत मंदिर का शुद्धिकरण किया जा रहा है

    Tags: Jharkhand news, Suicide

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर